Khula Sach
ताज़ा खबरदेश-विदेशराज्य

इंटरनेशनल प्रेस कम्युनीटी ने उत्कृष्ट पत्रकरिता के लिए मुंबई अमरदीप के पत्रकार शकील शेख को किया सम्मानित

समाज के बुद्धिजीवि वर्ग ने भारत को विश्व गुरु बनाने की पहल, धर्म संसद में रखे अपने विचार 

धर्मसंसद कार्यक्रम में हुआ हरित जीवन पत्रिका का लोकार्पण

मुंबई : मानव एकता और विश्व शांति के लिए भारत को विश्व गुरु बनाने की पहल की गई. इंटरनेशनल प्रेस कम्युनिटी की ओर से मुंबई प्रेस क्लब में एक धर्म संसद का आयोजन किया गया.जिसमें जाती धर्म से ऊपर उठकर नये शक्तिशाली भारत का निर्माण करने का उद्देश्य प्रकट किया! आईपीसी धर्म संसद आईपीसी धर्म संसद में जुटे बुद्धजीवियो -इस अवसर पर विभिन्न धर्मों के मर्मज्ञों, साहित्यकारों और पत्रकारों ने हिस्सा लिया. धर्म संसद में उपस्थित विद्वानों के हाथों पर्यावरण को समर्पित राष्ट्रीय पत्रिका “हरित जीवन” का लोकार्पण किया गया. समारोह की अध्यक्षता वरिष्ठ साहित्यकार पत्रकार मधुराज मधु ने की. जबकि कार्यक्रम के समन्वयक प्रसिद्ध कवि सागर त्रिपाठी थे.

इसमें कई धर्मों के धर्मगुरुओं , पंडित विजय कुमार आर. मिश्र (सनातन), डॉ सूफी खान (इस्लाम), पंडित मुस्तफा चतुर्वेदी (बौद्ध) ने हिस्सा लिया. सभी अतिथियों ने मानवता को हर धर्म की मूल भावना बताया तथा आपसी सद्भाव पर जोर दिया. धर्म संसद आयोजक डॉ. परमिंदर पांडेय ने बताया कि इस उद्देश्य को लेकर आईपीसी की ओर से देश के विभिन्न शहरों में लगातार 12 मासिक कवि सम्मेलन करने के बाद इस धर्म संसद का आयोजन किया गया. वहीं विद्यवान कवि सागर त्रिपाठी ने कहा की सभी धर्म एक सामान है ! सभी धर्मो के लोग को आपसी प्रेम व भाई चारगी बनाये रखना चाहिये !

उल्लेखनीय तौर पर प्रख्यात कवियित्री नीलीमा पांडे ने कहा की भारत मे विभिन्न जाती धर्म क लोग रहते है! सभी धर्मो क लोगों को एक दूसरे क प्रति प्यार और समर्पण की भावना रखनी चाहिये ! रही बात भारत देश की वो विश्व गुरु था, है और रहेगा ! वहीं शिक्षा विद विद्या शर्मा ने कहा की ऐसे विषयो पर धर्म संसद जैसे कार्यक्रमों की बहुत जरूरत है आपसी सोहद्र बनाये रखने क लिए जरुरी है! वहीं रीमा चौधरी ने कहा की ऐसे आयोजनों को समाज मे जागरूकता फैलाने मे. सहायक सिद्ध होंगे!

बिंदु दुबे ने प्रसार माध्यमो से बातचीत मे कहा की भारत देश को विश्व गुरु बनाने के मुद्दे पर अगर हर कोई व्यक्ति विशेष अपना काम बड़ी जिम्मेदारी पूर्ववक निभाता है तो भारत को विश्व गुरु बनने से कोई रोक नहीं सकता है ! वहीं बात सभी धर्म समुदाय की करें तो इसका सभी धर्मो क लोगों को अपने धर्मो के प्रचार प्रसार करने का संविधान मे हक़ मिला है !

धर्म संसद हरित जीवन पत्रिका का विमोचन किया गया

वहीं सभी आगंतुकों ने एक स्वर में कहा कि धर्म के नाम पर किसी को भी भटकाया नहीं जा सकता है. इस अवसर पर डॉ महेंद्र, दीनदयाल मुरारका, आर पी रघुवंशी,अनिल कुमार राही,पत्रकार अखिलेश मिश्र , पांडे, नामदार राही, ओमप्रकाश तिवारी, यशपाल शर्मा, वी बी साहिर, लक्ष्मण शर्मा वाहिद, विद्या शर्मा, मुंबई अमरदीप कार्यकारी संपादक शाकील शेख, कृष्णा पांडेय, बृजेश पाण्डेय, योगेश पाण्डेय, अरुण शुक्ल, राजेश त्रिपाठी, पंडित संजय पाण्डेय, पंडित सुशील पाण्डेय, रामबृक्ष गुप्ता आदि उपस्थित थे. इस दौरान अपने अपने क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य करने वाले लोगों को सम्मानित भी किया गया. कार्यक्रम का संचालन पत्रकार अवनींद्र आशुतोष तथा आभार प्रदर्शन पत्रकार संजय मिश्रा ने किया.

Related posts

मिनोशा इंडिया लिमिटेड ने लेज़र प्रिंटर्स की स्मार्ट रेंज लॉन्च की

Khula Sach

आजादी के 75 साल बाद भारत में राजनैतिक पुर्नजागरण एवं सबसे बड़ा आश्चर्य देखने को मिलेगा

Khula Sach

Poem : बिन मौसम वाली जिंदगी 

Khula Sach

Leave a Comment