Khula Sach
अन्यताज़ा खबरदेश-विदेश

Delhi : अमालेस के तत्वावधान में हर्षोल्लास के साथ मनाई गयी मुंशी प्रेमचन्द की जयन्ती

दिल्ली : रविआभा युगनिर्माण समाज एवं एजुकेशनल एण्ड सोशल वेलफेयर ट्रस्ट के साहित्यिक अंग “अन्तर्राष्ट्रीय मानवतावादी लेखक संगठन” (अमालेस) के तत्वावधान में कालजयी साहित्यकार कथासम्राट मुंशी प्रेमचन्द की जयन्ती बड़े हर्षोल्लास के साथ मनाई गयी। सम्पूर्ण भारत के कोने-कोने से साहित्यकारों ने प्रतिभाग किया। मुख्य अतिथि व मुख्य वक्ता के रूप में पश्चिम बंगाल में शिक्षक रूप में कार्यरत युवा विद्रोही आलोचक कुमार सुशांत जी ने अपने ओजस्वी वक्तव्य से प्रेमचंद के कृतित्व व व्यकित्व के सभी पहलुओ पर विस्तार से बताया। विशिष्ट अतिथि के रूप में जितेन्द्र झा जी, डाँ.निवास त्यागी जी एवं राजेश मिश्रा जी ने अपने अमूल्य विचारों से सच्चे साहित्यकार के सम्पूर्ण गुणदर्शन पर प्रकाश डाले और प्रेमचन्द के बहाने यह बताने का प्रयास किए कि सच्चा साहित्यकार होना ही प्रेमचन्द. होना है।

कार्यक्रम का संचलन अमालेस राष्ट्रीय अध्यक्षा पुष्पलता लक्ष्मी एवं अमालेस उत्तरप्रदेश अध्यक्ष अनिल शर्मा जी ने संयुक्त रूप से किया। जो अपने आप में विशिष्ट था। निम्नलिखित साहित्यकारों ने प्रतिभाग कर अपने अमूल्य वाणी से, संस्मरण से, कविताओं से प्रेमचंद जी को श्रद्धांजलि अर्पित किए। पुष्प लता लक्ष्मी, रेनू मिश्रा “दीपशिखा”, अनामिका अमिताभ गौरव, अनिल शर्मा, ललित डोभाल “अल्पज्ञ” ललिता पाठक नारायणी, दीपक चौहान, आरती दीक्षित, भावना भारद्वाज, आभा मिश्रा,. लक्ष्मी रावत ‘कुम्मी’, कृष्णा मिश्रा (अतुल), डॉ पूर्णिमा मालवीय, उदय झा मुम्बई महाराष्ट्र, उत्तराखंड, बासुदेव नेगी कंचन तिवारी कशिश, नूपुर मालवीया, सुशील कुमार तिवारी, मंजीत सिंह रावत, गीता पाण्डे अपराजिता, डॉ अर्चना ओजस्वी, आरती तिवारी सनत, जया मोहन श्रीवास्तव, रश्मि गुप्ता’गोपाला रश्मि’ कृष्णकुमार द्विवेदी गुरू जी, अनूप त्रिपाठी, मनोरमा कश्यप जी आदि साहित्यकारों ने प्रतिभाग किया और कार्यक्रम को सफल बनाया। रविआभा युगनिर्माण समाज के अध्यक्ष हरिश्चन्द्र त्रिपाठी जी ने सभी साहित्यकारों का स्वागत, अभिनंदन और मानसिक पुष्प गुच्छ भेंट किया। महासचिव एवं संस्थापिका रेखा तिवारी ने भी सबका आभार ज्ञापित किया। आयोजन प्रवीण तिवारी “रविआभा” अमालेस संस्थापक ने और संयोजन वसुंधरा दहेज़ उन्मूलन ट्रस्ट के संस्थापक योगेश त्रिपाठी जी ने किया। संरक्षक धर्मप्रकाश पाण्डेय जी ने सभी को शुभकामनाएं अर्पित किया। सभी प्रतिभागियों को “रविआभा राष्ट्र गौरव सम्मान पत्र” से सम्मानित भी किया गया। यह कार्यक्रम कोरोना जैसी व्यापक महामारी को दृष्टिगत रखते हुए गूगलमीट पर आयोजित किया गया। अमालेस संस्थापक प्रवीण तिवारी “रविआभा” ने राष्ट्र गान के उपरांत कार्यक्रम समापन की घोषणा किया।

Related posts

Poem : “मन की लहरें”

Khula Sach

जश्न : फ़ैशन लाइफस्टाइल करवाचौथ व दीवाली मेला का किया गया आयोजन

Khula Sach

फिल्म ‘शेरनी’ का टीज़र आउट …. वन अधिकारी के रूप में विद्या बालन के लुक ने किया प्रभावित

Khula Sach

Leave a Comment