Khula Sach
ताज़ा खबरमीरजापुरराज्य

Mirzapur : विद्यालय जाते समय साइकिल से अनियंत्रित होकर पुल से नीचे 120 फीट नदी में गिरी छात्रा की उपचार के दौरान हुई मौत

रिपोर्ट : बृजेश गोंड

मीरजापुर, (उ0प्र0) : हलिया थाना क्षेत्र के हथेड़ा गांव निवासी शारदा प्रसाद मिश्र की 15 वर्षीया पुत्री सुधा मिश्रा मंगलवार सुबह अपनी सहेलियों के साथ साइकिल से भटवारी गांव स्थित जगधारी प्रसाद यादव स्मारक इंटर कालेज में प्रैक्टिकल परीक्षा के लिए प्रोजेक्ट फाइल बनाने के लिए जा रही थी। जैसे ही भटवारी हथेड़ा गांव के मध्य स्थित अदवा नदी के सिंचाई विभाग के क्षतिग्रस्त रेलिंग विहीन पुल पर पहुंची कि पुल पर कुछ दूर आगे जाने पर सामने पड़े गढ्ढे से बचने के चक्कर में अनियंत्रित होकर पुल से एक सौ बीस फीट नीचे जा गिरी, साथ में स्कूल जा रही सहेलियों के चीख-पुकार पर ग्रामीण पुल की तरफ दौड़ पड़े। आनन फानन में छात्रा को नदी से बाहर निकाला और घटना की सूचना परिजनों को दी। मौके पर पहुंचे परिजन छात्रा को अचेतावस्था में लेकर प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र हलिया पहुंचे। जहां प्राथमिक उपचार के बाद प्रभारी चिकित्साधिकारी अभिषेक जायसवाल ने छात्रा की गंभीर स्थिति को देखते हुए मंडलीय चिकित्सालय के लिए रेफर कर दिया। जहां उपचार के दौरान छात्रा की मौत हो गई।

छात्रा तीन भाई बहनों में सबसे छोटी थी। छात्रा के पिता खेती कर परिवार का जीविकोपार्जन करते हैं। घटना से परिजनों तथा ग्रामीणों में शोक की लहर दौड़ पड़ी है। छात्रा सोमवार शाम को प्रयागराज जनपद अपने ननिहाल से 15 दिनों बाद विद्यालय में प्रैक्टिकल प्रोजेक्ट फाइल तैयार करने की सूचना पर घर वापस आई थी। भटवारी गांव में सिंचाई विभाग की लापरवाही से रेलिंग विहीन क्षतिग्रस्त पुल का मरम्मत नही होने से आए दिन घटनाएं हो रही है। जिससे क्षेत्रवासियों में सिंचाई विभाग के प्रति भारी आक्रोश व्याप्त है। क्षेत्रीय ग्रामीण एडवोकेट गोविंद यादव एडवोकेट काशी प्रसाद मिश्रा, बबलू अग्रहरि आदि ग्रामीणों ने कहां की सिंचाई विभाग का यह पुल अधिकारियों एवं कर्मचारियों के उदासीन रवैया का शिकार बन कर रह गया है। पुल का कभी भी मरम्मती करण आज तक नहीं कराया गया है। आज तक सिंचाई विभाग का कोई भी अधिकारी क्षतिग्रस्त पुल का सुध लेना मुनासिब नहीं समझा। पुल पर जगह-जगह गड्ढे बने हुए हैं। पुल पर दोनों तरफ रेलिंग का कहीं अता पता नहीं है। जिस कारण दुर्घटनाओं में आए दिन इजाफा हो रहा है, फिर भी अधिकारियों के कान पर जूं तक नहीं रेंगता रहा है। उन्होंने कहा कि जल्द ही पुल का मरम्मती करण नहीं कराया गया तो क्षेत्रीय ग्रामीण आंदोलन व चक्का जाम करने पर बाध्य होंगे।

Related posts

क्या इस हफ्ते इंद्रेश बचा पाएगा स्वाति और अपने होने वाले बच्चे को?

Khula Sach

Varanasi : दो दिवसीय फगुआ दिव्यांग पुनर्वास मेला आज से

Khula Sach

’विराज सागर दास को कोरोना काल में किये गए कामो के लिए किया गया सम्मानित’

Khula Sach

Leave a Comment