Khula Sach
कारोबारताज़ा खबर

वैश्विक उत्पादन में बढ़ोतरी की संभावना से कच्चे तेल के कीमतों में तेजी

मुंबई : ओपेक के आशावादी दृष्टिकोण पर उत्पादन बढ़ाने की योजना ने कच्चे तेल की कीमतों को समर्थन दिया जबकि चीन के औद्योगिक खंड में कमजोरी ने आधार धातुओं को कमजोर कर दिया। एंजेल ब्रोकिंग लिमिटेड के नॉन एग्री कमोडिटी एंड करेंसी रिसर्च एवीपी श्री प्रथमेश माल्या ने बताया कि गुरुवार को डब्ल्यूटीआई क्रूड 2.4 प्रतिशत बढ़कर 75.2 डॉलर प्रति बैरल पर बंद हुआ, क्योंकि यूएस क्रूड इन्वेंट्री में कमी, मांग में मजबूती की संभावना, और रॉयटर्स की रिपोर्ट कि ओपेक+ आने वाले महीनों में उत्पादन बढ़ा सकते हैं, जिसने कीमतों को समर्थन दिया।

बैठक में, पेट्रोलियम निर्यातक देशों के संगठन (ओपेक) और सहयोगियों ने अगस्त’21 और दिसंबर’21 के बीच बाजार में लगभग 2 मिलियन बैरल प्रति दिन (बीपीडी) तेल उत्पादन बढ़ाने की दिशा में आगे बढ़ने का फैसला किया। यह कदम कोविड-19 के खिलाफ टीकाकरण दरों में बढ़ोतरी और इससे यात्रा प्रतिबंधों में ढील के बाद वर्ष की दूसरी छमाही में ईंधन की मांग में वृद्धि की उम्मीदों पर आया है।

हालांकि, प्रमुख तेल खपत वाले देशों में अत्यधिक संक्रामक डेल्टा वैरिएंट के संक्रमित मामलों में वृद्धि पर चिंताओं ने बाजारों को सतर्क रखा। एनर्जी इंफॉर्मेशन एडमिनिस्ट्रेशन की रिपोर्ट के मुताबिक, यूएस क्रूड इन्वेंटरी पिछले हफ्ते 6.7 मिलियन बैरल गिर गया, जो कि 4.2 मिलियन बैरल ड्रॉप की बाजार की उम्मीद को पार कर गया और लगातार छठी साप्ताहिक गिरावट दर्ज की गई।

Related posts

70 फीसदी शादीशुदा कपल्स पार्टनर के खर्राटों से परेशान: सर्वे

Khula Sach

Mirzapur : पाँच दिन पूर्व वाहन से चोरी हुए सामान का कुछ भाग बरामद

Khula Sach

एयर्थ का वीश्योर एंटीमाइक्रोबियल एयर प्यूरीफायर को मिली सफलता

Khula Sach

Leave a Comment