Khula Sach
ताज़ा खबरमीरजापुरराज्य

Mirzapur : फाइलेरिया नियंत्रण अभियान के तहत स्वास्थ्य कर्मियों व आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को दिया गया प्रशिक्षण

रिपोर्ट : आशुतोष गुप्ता

मीरजापुर, (उ.प्र.) : प्रभारी चिकित्सा अधिकारी की अध्यक्षता में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पडरी में आशा और आंगनवाड़ी की  बैच संख्या 7 और 8 का फाइलेरिया ट्रेनिंग, बीसीपीएम सूर्यकांत गुप्ता व जोनल कोआर्डिनेटर, पाथ डॉ. जसप्रीत कौर के द्वारा दिया गया। ट्रेनिंग कुल दो बैच मे आयोजित किया गया था। दोनों बैच का मिलाकर कुल 64 प्रशिक्षार्थी उपस्थित रहे।

फाइलेरिया नियंत्रण अभियान के प्रशिक्षण के दौरान डा. जसप्रीत कौर ने बताया कि फाइलेरिया मच्छरों के काटने से होने वाला संक्रामक रोग है जिसे हाथीपांव के नाम से जाना जाता है। फाइलेरिया की दवा दो साल से छोटे बच्चों, गर्भवती महिलाओं व गंभीर रूप से बीमार लोगों को नहीं देना है। फाइलेरिया की दवा के खुराक के बारे में जानकारी देते हुए उन्होनें बताया कि आइवरमेक्टिन दवा पांच वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को उनकी ऊंचाई के अनुसार व डीईसी उम्र के हिसाब से एवं अल्बेंडाजोल दो वर्ष से अधिक सभी लोगों को एक गोली देना है। इसी कड़ी में उन्होंने आशा कार्यकर्ताओं तथा आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को घर-घर जाकर लोगों को साफ-सफाई के बारे में जागरूक करने के लिए कहा। जिससे फाइलेरिया रोग को भारत से मुक्त कराया जा सके। सरकार द्वारा फाइलेरिया नियंत्रण हेतु आगामी 26 अप्रैल से 11 मई तक अभियान चलाया जाएगा जिसमें घर-घर जाकर आशा कार्यकर्ता तथा आंगनबाड़ी कार्यकर्ता लोगों को फाइलेरिया रोग के बारे में जागरूक करेंगी और दवा खिलाएंगी जिससे फाइलेरिया के नियंत्रण व उसके उन्मुलन की दिशा में मदद मिलेगी।

Related posts

Thane : अंबरनाथ नगर परिषद और बिल्डर की मिलीभगत से लाखों की संख्या में लोग बूंद बूंद पानी के लिये तरस रहे है

Khula Sach

नशे में युवा पीढ़ी, दांव पर लग रही भारतीय संस्कृति

Khula Sach

क्या कसूर था मेरा !

Khula Sach

Leave a Comment