Khula Sach
कारोबारताज़ा खबर

91स्प्रिंगबोर्ड ने स्टार्टअप इकोसिस्टम तैयार करने के लिए ईयू-इंडिया इनोसेंटर के साथ किया सहयोग

~ इस पहल से भारतीय बाज़ार में यूरोपीय स्टार्टअप्स के के लिए मार्ग खुल सकेंगे   

भारत : 91 स्प्रिंगबोर्ड और ईयू-इंडिया इनोवेशन सेंटर ने अब एक विशेष कार्यक्रम की शुरुआत की है जिसके ज़रिए भारतीय अर्थव्यवस्था में यूरोपीय स्टार्टअप्स का प्रवेश संभव हो सकेगा। भारत और यूरोप के बीच द्विपक्षीय सहयोग को प्रोत्साहन देते हुए यह प्रोजेक्ट भारतीय कंपनियों के साथ सहयोग के लिए यूरोपीय स्टार्टअप्स का चयन कर उन्हें तैयार करेगा। इससे भारत में उनके बिज़नेस को लॉन्च करने और उसे बढ़ाने के लिए सक्षम किया जा सकेगा। साथ ही यूरोपीय स्टार्टअप्स को मार्केट में प्रवेश की उनकी रणनीतियों में और उन्हें व्यापक बनाने के लिए मज़बूत लोकल नेटवर्क तैयार करने में सहायता की जा सकेगी।

सिवित्ता से प्रोजेक्ट कॉर्डिनेटर इंद्रे कुलिकौउस्‍काइते ने घोषणा करते हुए कहा कि शुरुआती लक्ष्य दोनों क्षेत्रों से प्रमुख इकोसिस्टम दिग्‍गजों में से 70 को उनके नेटवर्क से जोड़ना है और करीब 500 परिपक्व यूरोपीय स्टार्टअप्स के लिए अंतरराष्ट्रीयकरण प्रशिक्षण पेश करना है।

जानकारी के आदान प्रदान और एक दूसरे बीच सहयोग की संभावना की खोज की महत्वाकांक्षा के साथ इकोसिस्टम निर्माता, कॉर्पोरेट और प्रमुख हस्तियाँ एम्बेसेडर्स की एक टीम तैयार करेंगे जिसे एक अग्रणी यूरो-भारतीय इनोवेटर्स समुदाय तक पहुँच प्राप्त होगी। इसमें रुचि रखने वाली कंपनियाँ यहाँ पंजीकरण कर सकती हैं: www.euindiainnocenter.eu

जर्मन उद्मिता जीएमबीएच से जूलियन फ्रोम्‍टर ने यूरोपीय और भारतीय इनोवेटर्स के बीच जानकारी और टेक्नोलॉजी के आदान प्रदान के महत्व पर ज़ोर देते हुए कहा: “हम अंतरराष्ट्रीयकरण में शीर्ष विशेषज्ञों और प्रत्येक बिज़नेस क्षेत्र के सर्वश्रेष्ठ लोकल पार्टनर को एक साथ लाते हैं। इससे यूरोपीय उद्यमियों को एक संपूर्ण पैकेज पेश करने के साथ ही और भारतीय बाज़ार में सफल प्रवेश की गारंटी मिलती है।”

मंत्रा फाउंडेशन से जय कृष्‍णन ने कहा: “अनुमान लगाया जा रहा है कि भारत 2021 में सबसे तेज अर्थव्‍यवस्‍था रहेगी और इस प्रकार यूरोपीय इनोवेशन के लिए नए बाज़ार ढूंढ़ने के लिए यह एक रोमांचक मौका उपलब्ध कराएगी। वे यूरोपीय इनोवेशंस जो ‘थिंक ग्लोबल, एक्ट लोकल’ की कहावत में भरोसा रखना चाहते हैं उनके लिए इस प्लैटफॉर्म से बेहतर जोड़ीदार नहीं हो सकता क्योंकि सभी स्टार्टअप्स भारत की अपार संभावनाओं की ओर देख रहे हैं। जैसे-जैसे वैश्विक अर्थव्यवस्था का विस्तार होगा वैसे-वैसे ईयू-इंडिया इनोवेशन सेंटर यूरोपियन इनोवेशंस के लिए एक जबरदस्त प्लैटफॉर्म होगा जो अंतरराष्ट्रीयकरण, मार्केट इमर्शन से लेकर स्केलिंग करने तक विभिन्न प्रकार की सेवाओं के साथ भारत में एक महत्वपूर्ण केंद्र निर्माण करेगा।”

91स्प्रिंगबोर्ड से सुधीर के.वी. ने कहा: “दुनिया के सबसे बड़े स्टार्टअप इकोसिस्टम में से एक होने के साथ हमारा देश तेज़ी से उभरता हुआ एक सितारा है। यह प्रोजेक्ट लाभ की भागीदारी के लिए अंतरराष्ट्रीयकरण और इनोवेशन के विशेषज्ञों को एक साथ लाने का काम करता है और हम भारत में 20 जगहों पर पूरी तरह से सहयोग देने के लिए तैयार हैं। ”

91स्प्रिंगबोर्ड के प्रतीक जैन ने कहा: “वैश्विक स्तर पर स्टार्टअप इकोसिस्टम के फलने फूलने के लिए ईयू-इंडिया इनोवेशन प्लैटफॉर्म दो अर्थव्यवस्थाओं को एक साथ लाने का काम करेगा। क्योंकि भारत में अर्थव्यवस्था तेजी से विकसित हो रही है, इसलिए यूरोपीय स्टार्टअप के लिए भारतीय बाज़ार को एक्स्प्लोर करने का यह सही समय है। हम भारत में ईयू-इंडिया इनोसेंटर एंटाइटी का निर्माण कर शुरु से लेकर आखिर तक और भविष्य में भी सभी प्रकार की सहायता प्रदान करने का इंतज़ार कर रहे हैं। ”

Related posts

मुंबई की ११ साल की लड़की ने जीता गोल्ड, डीएसओ राज्य स्तरीय स्केटिंग प्रतियोगिता के फाइनल में बनाई जगह

Khula Sach

Mirzapur : नपा अध्यक्ष मनोज जायसवाल ने अखिल विराट कुश्ती दंगल का किया शुभारंभ

Khula Sach

Poem : “फिर वही शाम”

Khula Sach

Leave a Comment