Khula Sach
ताज़ा खबरमनोरंजन

अभिनेता सोनू सूद ने बेघर और बेसहारा लोगों की सम्मानजनक जिंदगी जीने में मदद के लिए एयर- आत्मन इन रवि की जंग का समर्थन किया

बेंगलुरु : कोविड-19 महामारी में ऐसे कई हीरोज समाज के सामने आए, जिन्होंने अपनी सामर्थ्य और ताकत से कहीं आगे बढ़कर लोगों की मदद की। एक ऐसे ही हीरो बॉलीवुड अभिनेता सोनू सूद हैं, जिन्होंने कोविड लॉकडाउन के समय अनजान शहरों में फंसे लोगों को उनके घर पहुंचाने में मदद की और उनके लिए मसीहा बन गए।

सोनू सूद ने सामाजिक और आध्यात्मिक हीरो एयर- आत्मन इन रवि से मुलाकात करने के लिए मंगलवार को गार्डन सिटी का दौरा किया। वे पिछले 30 साल से बेंगलुरु में बेघर और बेसहारा लोगों की मदद कर रहे हैं। सूद ने एयर ह्यूमैनिटेरियन होम्स का दौरा किया। सूद ने बताया कि बेघर होना एक बेहद मुश्किल समस्या है, जिसे हल करने के लिए अलग-अलग नजरिए से सोचने की जरूरत है। “बेघर लोगों के लिए काम करने में दिलचस्पी रखने वाले व्यक्तियों को भी इसमें अपना योगदान देने के लिए आगे आना चाहिए। एयर ह्यूमैनिटेरियन होम्स इस बात की मिसाल है कि कैसे मजबूत और दृढ़ निश्चयी और सामाजिक सरोकार रखने वाला व्यक्ति समाजसेवा के काम में अपने लक्ष्य को तय कर सकता है और निश्चित रूप से उसमें सफलता हासिल कर सकता है।”

यह एयर- आत्मन इन रवि की पहल है जोकि एक आध्यात्मिक संरक्षक, प्रेरणादायक वक्ता, लेखक, गायक और परोपकारी हैं। ह्यूमैनिटेरियन होम्स बेघर और बेसहारा लोगों के रहने के लिए सुरक्षित, सम्मानजनक और अच्छे रहनसहन के लिए सभी सुविधाओं से सुसज्जित घर होने की जरूरत को सुनिश्चित करते हैं। लोगों को भूखे-प्यासे खाली पेट सड़कों पर सोने से रोकने के लिए एआईआर ने एनजीओ के माध्यम से बेंगलुरु के बन्नेरघट्टा, चिकागुब्बी गांव और चंदापुरा में तीन एआईआर ह्यूमैनिटेरियन होम्स की स्थापना की। इन होम्स ने पिछले तीन दशकों में लाखों लोगों को काफी सहारा दिया है और उन्हें अपने पैरों पर खड़ा करने में मदद की है। इस समय इन होम्स में 800 लोग रह रहे हैं, उनके प्रयासों ने बेसहारा लोगों की बीमारियों के इलाज के लिए मेडिकल बिलों को भी काफी कम किया है और कई बेघर लोगों को उनके परिवार से मिलाने में मदद की है।

सूद ने यहां आकर इन घरों में बेघरों को मिलने वाली सुविधाओं की काफी तारीफ की। इन घरों ने सिर्फ बेघर और बेसहारा लोगों के सिर पर छत दी है, बल्कि उनकी मानसिक और शारीरिक सेहत को बेहतर बनाने का ख्याल रखा है। यह वह समय है, जब हमें रुपये-पैसे और अपने बेहतरीन प्रयासों से बेघर और बेसहारा लोगों की मदद करनी चाहिए। सोनू सूद ने यह कहा, बड़े शहरों में बेघरों के लिए इसी तरह के घर बनाने की जरूरत है।

इस अवसर पर आत्मन इन रवि ने कहा, “एयर ह्यूमैनिटेरियन घरों से रोजाना 800 लोगों की सेवा की जा रही है। अब हम इस सर्विस को देश के अन्य भागों में ले जाने की योजना बना रहे हैं। एयर ह्मूनैटिरियन होम्स ने कभी किसी को अपने दरवाजे से जाने के लिए नहीं कहा है। चाहे वह नवजात शिशु हो, बुजुर्ग हों, सामाजिक शोषण के शिकार हों या गंभीर बीमारियों से जूझ रहे लोग हों। हमने अमानवीय स्थिति में जिंदगी गुजारते बहुत से लोगों को देखा है, जिनमें भूखे –प्यासे, घायल और संक्रामक घावों से जूझ रहे लोग शामिल थे। हमने उन लोगों को अपने पैरों पर खड़ा करने में मदद की है। हम अपने इस सफर में हर किसी का सहयोग चाहते हैं। कोई भी मदद, चाहे वह कितनी भी छोटी हो, हमारे लिए काफी मायने रखती है।

सफल कारोबारी जिन्‍होंने अपना वेंचर यह समझने के बाद बंद कर दिया कि असली खुशी दूसरों की सेवा और मदद करने से मिलती है, अब इस देश के हर परित्‍यक्‍त व्यक्ति की मदद के लिए आगे आना चाहते हैं।

Related posts

Mirzapur : चौरी चौरा शताब्दी महोत्सव के अवसर पर जनपद में आयोजित किये गये विविध कार्यक्रम

Khula Sach

Noida : असहाय एवं जरुरतमन्द लोगों की मदद के लिये सदैव “साथी हाथ बढ़ाना” तत्पर

Khula Sach

म्यूजिक वीडियो ‘मोहब्बत तमाशा नही’ 

Khula Sach

Leave a Comment