Khula Sach
ताज़ा खबरदेश-विदेश

गढ़चिरौली में आम आदमी पार्टी की दमदार उपस्थिति ; ग्राम पंचायत चुनावों में राज्य भर में शानदार जीत

रिपोर्ट : रवि यादव

मुंबई : महाराष्ट्र ग्राम पंचायत चुनावों के शेष परिणाम 22 जनवरी, 2021 को घोषित किए गए और गढ़चिरौली में आम आदमी पार्टी ने शानदार जीत हासिल की। जबरदस्त शुरुआत के साथ ग्राम पंचायत चुनावों में आम आदमी पार्टी के 300 उम्मीदवारों में से 145 सदस्य चुने गए। जिसमें से 3 गॉंवों में पूरा पैनल जीत गया। लातूर में एक और गढ़चिरौली में दो गाँवों में यह शानदार विजय मिली है। यह जीत इसलिए उल्लेखनीय है कि हमने 300 उम्मीदवार खड़े किए थे और हमारी जीत का प्रतिशत 50% रहा। पार्टी संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आम आदमी पार्टी, महाराष्ट्र की इस अभूतपूर्व शुरुआत की सराहना की है।

एक नई पार्टी के लिए ग्रामीण महाराष्ट्र में ऐसी दमदार शुरुआत करना अभूतपूर्व है। आज हर बच्चा जानता है कि अरविंद केजरीवाल ने शासन में नए मानदंड स्थापित किए हैं और हर भारतीय चाहता है कि दिल्ली मॉडल घर घर पहुंचे। यही कारण है कि आम आदमी पार्टी ने अन्य राजनीतिक दलों के सदस्यों द्वारा धनबल, बाहुबल और विभाजनकारी एजेंडे के व्यापक उपयोग के बावजूद जबरदस्त जीत हासिल की। महाराष्ट्र में राजनीतिक स्थिति स्पष्ट रूप से अस्थिर है और ऐसे समय में आम आदमी पार्टी एक राजनीतिक शक्ति के रूप में उभरी है।

पार्टी के विजयी सदस्यों का क्षेत्र और जिलावार विभाजन इस प्रकार है : कुल उम्मीदवार – 300 , विजयी उम्मीदवार – 145

  • हिंगोली : 11
  • लातूर : 5
  • जालना : 4
  • सोलापुर : 11
  • गढ़चिरौली : 29
  • नागपुर : 6
  • वाशिम : 1
  • यवतमाल : 41
  • बुलढाणा : 18
  • चंद्रपुर : 10
  • भंडारा : 3
  • पालघर : 2
  • नासिक : 1
  • अहमदनगर : 3

ग्राम पंचायत पैनल – 4

  • गांव- दपक्याल, तालुका – चाकूर , जिला – लातूर
  • गांव – बेतेच, तालुका – कोर्ची, जिला- गढ़चिरौली
  • गांव – मरोरा, तालुका – चमोर्शी , जिला – गढ़चिरौली
  • गांव – गुंजेगांव , तालुका – दक्षिण सोलापुर, जिला – सोलापुर

परिणामों से यह स्पष्ट होता है कि आम आदमी पार्टी के लिए पूरे महाराष्ट्र में समर्थन बढ़ रहा है। यह उल्लेखनीय है कि पार्टी ने राज्य के सभी क्षेत्रों में मजबूत आधार तैयार किया है और इसमें महिलाओं का बहुत बड़ा योगदान है, क्योंकि पार्टी में महिला नेताओं का अपने आप में एक स्थान है और वे डमी उम्मीदवार नहीं हैं। विशेष रूप से, विदर्भ का यवतमाल जिला, जिसने राज्य में सबसे अधिक किसान आत्महत्याएँ देखी हैं, इस जिले में हमारे 41 उम्मीदवार जीते हैं।

आम आदमी पार्टी की राष्ट्रीय नेता प्रीति शर्मा मेनन ने कहा, ” ग्राम पंचायत चुनावों के परिणाम इस तथ्य के साक्ष्य हैं कि महाराष्ट्र के लोग कांग्रेस, शिवसेना, राकांपा और भाजपा जैसे पारंपरिक राजनीतिक दलों की नीतियों से आजिज आ चुके हैं, जो राज्य में येन केन प्रकारेण गठबंधन करके सत्ता हासिल तो कर लेते हैं, पर आम आदमी को कोई लाभ नहीं होता। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के सर्व समावेशी विकास और सुशासन का मॉडल इन पार्टियों के कुशासन , बेतहाशा बढ़ती बेरोजगारी और चौतरफा आर्थिक मंदी के अलावा कोरोना महामारी से जूझ रहे नागरिकों के लिए आशा की किरण बन गया है। ”

पार्टी इस वर्ष जिला परिषद और नगर निगम चुनाव लड़कर अपनी स्थिति और भी मजबूत करेगी। हम सभी समविचारी लोगों को हमारे साथ जुड़ने के लिए आमंत्रित करते हैं, क्योंकि आम आदमी पार्टी महाराष्ट्र में उत्तरोत्तर प्रगति पथ पर है ।

Related posts

नाबालिक से छेड़खानी का आरोपी वांछित अभियुक्त गिरफ्तार

Khula Sach

Mirzapur : रामभक्तों ने जिले में रच दिया विश्व का इतिहास 

Khula Sach

Chattarpur : 44 वर्षों बाद मंदिर प्रांगण में हो रहे महोत्सव से दर्शकों में बढ़ रहा खजुराहो का आकर्षण

Khula Sach

Leave a Comment