Khula Sach
कारोबारताज़ा खबरदेश-विदेश

फिटर का ट्रांसफॉर्मेशन चैलेंज

1 करोड़ रुपए नकद के ग्रांड प्राइज की घोषणा 

मुंबई : दुनिया के सबसे बड़े कम्युनिटी-ड्रिवन ऑनलाइन हेल्थ और फिटनेस स्टार्ट-अप में से एक फिटर (Fittr) ने 2021 के लिए टीसी-12 के साथ अपने ट्रांसफॉर्मेशन चैलेंज (टीसी) का एक बड़े और बेहतर संस्करण की घोषणा की है। 2021 में टीसी सीरीज के विजेता के लिए 1 करोड़ रुपए का नगद पुरस्कार दिया जाएगा। टीसी-12 के व्यक्तिगत विजेता और वर्षभर में चलने वाले ट्रांसफॉर्मेशन चैलेंज के अन्य संस्करणों में प्रत्येक के विजेता को 5 लाख रुपए का नगद पुरस्कार दिया जाएगा। इसके अलावा, फर्स्ट रनर-अप और सेकंड रनर-अप क्रमश: 2 लाख रुपए और 1 लाख रुपए जीतेंगे। इन फिटनेस चुनौतियों के साथ फिटर का लक्ष्य लोगों को फिट रहने के लिए प्रेरित करना है, जिससे कंपनी का 50 मिलियन लोगों को फिट बनाने के अपने लक्ष्य के करीब पहुंचेगी।

जनवरी 2021 के पहले सप्ताह से शुरू होकर टीसी-12 की 12-सप्ताह की ऑनलाइन फिटनेस चुनौती को फिटर ऐप पर होस्ट किया जाएगा। कंपनी दुनियाभर के 18 वर्ष और उससे अधिक आयु के प्रतिभागियों की प्रविष्टियों को बिना किसी पंजीकरण शुल्क के मुफ्त में स्वीकार करेगी।

फिटर के संस्थापक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी जितेंद्र चौकसे ने कहा कि, ‘प्रत्येक वर्ष की शुरुआत में लोग अपने स्वास्थ्य और फिटनेस के नए संकल्प लेते हैं। कई लोगों के लिए इन लक्ष्यों को पूरा करना चुनौतीपूर्ण लगता है, क्योंकि वे हेल्थ और वेलनेस के महत्व को महसूस करने में विफल रहते हैं। इस महामारी ने काफी हद तक परिस्थितियों को बदल दिया है, फिर भी फिटनेस को हमारी जीवनशैली का एक अभिन्न अंग बनने के लिए लंबा रास्ता तय करना है। यह ही ट्रांसफॉर्मेशन चैलेंज का उद्देश्य है – लोगों के सामने चुनौती रखना और उन्हें अपने स्वास्थ्य में निवेश करने के लिए प्रेरित करना। ट्रांसफॉर्मेशन चैलेंज फिटर के लोकाचार का प्रतिनिधित्व करता है। हम दृढ़ता से मानते हैं कि कोई भी उचित ज्ञान और मार्गदर्शन के साथ खुद का सबसे अच्छा वर्जन बन सकता है।’

Related posts

Mirzapur : जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक द्वारा थाना समाधान दिवस सुनी गयी समस्याएं, निस्तारण हेतु दिया गया निर्देश

Khula Sach

Mirzapur : जिलाधिकारी ने सभी जन प्रतिनिधियो, अधिकारियो कर्मचारियो को दी बधाई

Khula Sach

Mirzapur : योगी और मोदी की योजनाओं से दलितों का हो रहा सशक्तिकरण ~ डॉ. निर्मल

Khula Sach

Leave a Comment