Khula Sach
ताज़ा खबरमीरजापुरराज्य

जिलाधिकारी ने मड़िहान के क्षेत्र भ्रमण के दौरान पंचायत भवन, आयुर्वेदिक अस्पताल व मात्र शिशु कल्याण केन्द्र का किया गया औचक निरीक्षण

  • आयुर्वेदिक अस्पताल डढ़िया में चिकित्सक अनुपस्थित तो मात्र शिशु कल्याण केन्द्र/उप स्वास्थ्य केन्द्र में बन्द मिला ताला
  • पंचायत भवन परिसर में साफ सफाई कराने के निर्देश के साथ ही पंचायत भवन में रखे जाने वाले कुल 12 रजिस्टरो को बनाये जाने का जिलाधिकारी ने दिया निर्देश

मीरजापुर : जिलाधिकारी प्रियंका निरंजन ने आज तहसील मड़िहान क्षेत्र में अपने भ्रमण के दौरान ग्राम डढ़िया में स्थित ग्राम पंचायत भवन, आयुर्वेदिक अस्पताल एवं मातृ शिशु कल्याण केन्द्र/उप स्वास्थ्य केन्द्र का आकस्मिक निरीक्षण किया गया। लगभग अपरान्ह 02ः05 बजे पंचायत भवन/सामुदायिक भवन के निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी द्वारा उपस्थित कर्मी/कम्प्यूटर आपरेटर से पूछताछ के दौरान उक्त कार्मिक के द्वारा बताया गया गया कि केवल एक रजिस्टर जो आयुष्मान कार्ड बनाये जाने से सम्बन्धित है बनाया गया है जबकि जिलाधिकारी द्वारा ग्राम पंचायतों में रखे जाने वाले सभी 12 प्रकार के रजिस्टरों के बारे में जानकारी ली गयी तो बताया गया कि अन्य कोई रजिस्टर नही बनाया गया है। जिलाधिकारी ने मोबाइल पर वार्ता कर खण्ड विकास अधिकारी राजगढ़ को निर्देशित करते हुये सभी ग्राम पंचायतों में ग्राम में लागू सभी योजनाओं से सम्बन्धित महत्वपूर्ण 12 प्रकार के रजिस्टरों को रखवाते हुये उसमें योजनाओं के बारे में विस्तृत विवरण लिखवाया जाय। पंचायत भवन परिसर में घास आदि छिलवाकर सफाई कराने तथा शौचालय के सामने रखे गये मिट्टी के ढेर को हटवाने का निर्देश दिया गया।

तत्पश्चात लगभग 02ः10 बजे जिलाधिकारी में पास में ही स्थित आयुर्वेदिक अस्पताल में पहंुची जहां पर मात्र एक चतुर्थ श्रेणी का कर्मचारी उपस्थित मिला। चिकित्सक डाॅ संजीव कुमार त्रिपाठी अनुपस्थित रहें। उक्त चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी से इनके बारे में पूछे जाने पर बताया गया कि उसे कोई जानकारी नही हैं। अस्पताल के अन्दर चिकित्सक कक्ष, स्टोर आदि में कुर्सिया आदि अव्यवस्थित रखे जाने तथा साफ सफाई न होने पर जिलाधिकारी कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुये जिला आयुर्वेदिक अधिकारी के मोबाइल पर फोन पर स्थिति से अवगत कराते हुये बेहतर साफ सफाई कराने तथा उक्त चिकित्सक के स्पष्टीकरण के भी निर्देश दिये गये।

तत्पश्चात लगभग 02ः15 बजे आयुर्वेदिक अस्पताल के सामने स्थित मात्र शिशु कल्याण केन्द्र/उप स्वास्थ्य केन्द्र में जिलाधिकारी के पहंुचने पर केन्द्र पर ताला बन्द पाया गया हालकि आनन फानन में कुछ देर बाद ए0एन0एम0 अनीता देवी, आशा कार्यकत्री डढ़िया प्रतिमा सिंह एवं आशा कार्यकत्री भावा कमलेश देवी केन्द्र पर पहंुची उनके द्वारा जिलाधिकारी को बताया गया कि गांव में जाकर आयुष्मान कार्ड बनाये जाने की कार्यवाही की जा रही थी। केन्द्र पर ताला बन्द होने के के बारे में ए0एन0एम0 के द्वारा मौके पर ही अपने पति को फोन करके चाभी मंगवाकर खोला गया। जिलाधिकारी द्वारा केन्द्र को बन्द रहने तथा चाभी ए0एन0एम0 के द्वारा अपने न रखने पर कड़ी नाराजगी व्यक्त की गयी तथा निर्देशित किया गया कि पुनः कभी केन्द्र बन्द पाया जाता है तो कड़ी कार्यवाही की जायेगी। उप स्वास्थ्य केन्द्र पर ए0एन0एम0 के रजिस्टर को भी जिलाधिकारी के द्वारा टीकाकरण, सैम मैम बच्चों की संख्या आदि के बारे में निरीक्षण किया गया तथा निर्देशित किया गया कि 05 वर्ष तक आयु वाले छूटे हुये बच्चों को सर्वे कर शत प्रतिशत टीकाकरण सुनिश्चित कराये। इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी नमामि गंगे देवेन्द्र प्रताप सिंह, उप जिलाधिकारी मड़िहान युगांतर त्रिपाठी उपस्थित रहें।

Related posts

Mirzapur : विंध्य कॉरिडोर के शिलान्यास के लिए प्रगतिकार्य का मण्डलायुक्त ने किया निरीक्षण 

Khula Sach

एसबीआई जनरल इंश्योरेंस ने शारीरिक और मानसिक सेहत के प्रति एक महत्वपूर्ण कैम्पेन शुरू किया

Khula Sach

Mirzapur : आइडियल जर्नलिस्ट एसोसिएशन ने 18 लोगों की जान बचाने वाले नागरिकों और गोताखोरों को किया सम्मानित 

Khula Sach

Leave a Comment