Khula Sach
अन्यताज़ा खबरमनोरंजन

Poem : मजदूर तो सब है यहां

मजदूर तो सब है यहां,
अपना समय देकर
उसकी कीमत लेना ही
उसकी मजदूरी कहलाई ।।

कोई घर बनाता है ,
कोई करता यहां सफाई
किसी को आता माल ढोना,
कोई करता यहां पर खुदाई ।।

कोई बनाता रोज खाना होटलों में
किसी को सुरक्षा की नौकरी भाई
इज्जत से जीते सभी यहां पर
करते सब अपनी अपनी कमाई ।।

जात पात का भेद नही, ना होती लड़ाई
मजदूरी करने वाले भी इंसान होते है भाई
नौकरी करने वाला भी इंसान एक मजदूर है
समय देकर सेवा से करता मालिक की भरपाई ।।

मजदूरी करने वाले को तुम देना इज्जत सम्मान
हर छोटे-बड़े कामों के लिए करना सदैव धन्यवाद
अपनी मेहनत से यह सबका साथ देने चले आते है
अपने अथक परिश्रम से दो वक्त की रोटी कमाते हैं।।

Related posts

Dombivli : युवक की पिटाई करने वाले तीनों आरोपियों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

Khula Sach

Varanasi : जिला ताइक्वांडो संघ द्वारा दो दिवसीय एडवांस ताइक्वांडो पूमसे ट्रेनिंग का सफलता पूर्वक हुआ समापन

Khula Sach

शोध समस्या बनाम शोधार्थी समस्या

Khula Sach

Leave a Comment