Khula Sach
कारोबारताज़ा खबरदेश-विदेशराज्य

मुम्बई में जेनरिक आधार की किफ़ायती औषधियों के 7वें चरण की शुरुआत की

मुम्बई: जेनरिक आधार के संस्थापक व सीईओ अर्जुन देशपांडे ने मुम्बई में किफ़ायती दामों पर जेनरिक औषधियां उपलब्ध कराने संबंधी 7वें चरण को लॉन्च किया. जेनरिक आधार की ओर से अब तक 6 चरणों को सफलतापूर्वक लॉन्च किया जा चुका है. 7वें दौर में 101 जेनरिक औषधियों को अन्य ब्रांड की औषधियों के मुक़ाबले 80% कम बाज़ार भाव में उपभोक्ता को उपलब्ध कराया जा रहा है.

जेनरिक आधार के 7वें चरण की औषधियों के सफलतापूर्वक लॉन्च किये जाने को लेकर अर्जुन देशपांडे ने कहा, “हम देशभर में आम लोगों के लिए किफ़ायती क़ीमतों पर जेनरिक औषधियां लॉन्च करने को लेकर अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के बेहद करीब पहुंच गये हैं. 7वें चरण की औषधियों के लॉन्च के साथ यह संभव हुआ है. अमृता फडणवीस ने इस लॉन्च के मौके पर मुख्य अतिथि के तौर पर अपनी विशेष मौजूदगी दर्ज़ कराई जिसके लिए मैं उनका शुक्रगुज़ार हूं. उन्होंने इस विशेष अवसर पर अपनी मौजूदगी से हमारे मिशन और विज़न दोनों के प्रति अपना समर्थन जताया.”

अर्जुन देशपांडे आगे कहते हैं, “जेनरिक आधार का मूल मक़सद देश के कोने-कोने में और देश के आख़िरी गांव तक किफ़ायती दामों पर जेनरिक दवाइयां पहुंचाना है. कम क़ीमतों पर दवाइयां उपलब्ध कराने से जुड़े 6 चरणों को पहले ही सफलतापूर्वक लॉन्च किया जा चुका है. इसका 7वां चरण भी कामयाब रहा. उल्लेखनीय है कि देशभर में जेनरिक आधार के 2000 से अधिक फ़्रेंचाइज़ीज़ मौजूद हैं. इनसे ना सिर्फ़ सैंकड़ों लोगों को रोज़गार के अवसर प्राप्त हुए हैं, बल्कि लघु स्तर पर लोगों को उद्यमी बनने का भी मौका हासिल हो रहा है. हमारा मिशन है कि हम साल के अंत तक देशभर में अपनी फ़्रेंचाइज़ीज़ की संख्या बढ़कार 5000 तक ले जाएंगे जिससे किफ़ायती दामों पर उपलब्ध होनेवाली जेनरिक औषधियों की मात्रा में ख़ासी वृद्धि होगी और पूरे भारत में मरीज़ों के स्वास्थ्य में उल्लेखनीय सुधार देखा जा सकेगा.”

अर्जुन देशपांडे का सपना है कि किफ़ायती क़ीमतों पर जेनरिक दवाइयां देश के हर नुक्कड़ पर उपलब्ध हों. इससे ना सिर्फ़ हेल्थकेयर सेक्टर में आमूल-चूल परिवर्तन आएगा बल्कि हरेक ज़रूरतमंद भारतीय को इसका ख़ासा लाभ भी होगा. जेनरिक दवाइयों को बेहद कम दामों पर उपलब्ध कराने से लोगों के स्वास्थ्य संबंधी बिलों में काफ़ी कमी आएगी और हेल्थकेयर सेक्टर में अभूतपूर्व बदलाव देखने को मिलेगा. जगह-जगह पर किफ़ायती दामों पर जेनरिक औषधियों की उपलब्धता से मरीज़ों के लिए ख़र्च की चिंता किये बग़ैर इलाज कराना संभव हो सकेगा. इससे आम लोगों के स्वास्थ्य में सकरात्मक बदलाव देखने को मिलेगा, स्वास्थ्य लाभ लेने के इच्छुक लोगों की तादाद में ख़ासा इज़ाफ़ा होगा और देशभर में आम लोगों के जीवन में बढ़िया सुधार होगा.

Related posts

Mirzapur : निर्देश के बावजूद कैश वैन एवं बैंक कर्मचारी द्वारा नियमों की, की जा रही है अवहेलना

Khula Sach

नहीं रहे मशहूर स्क्रीन राइटर शफीक अंसारी

Khula Sach

Mirzapur : जनपद में रात्रिकालीन कर्फ्यू शुरू

Khula Sach

Leave a Comment