Khula Sach
कारोबारताज़ा खबरदेश-विदेश

G20 सस्टेनेबल फाइनेंस वर्किंग ग्रुप की बैठक में जलवायु परिवर्तन के लिए वित्तीय संसाधन जुटाने पर हुई चर्चा

उदयपुर : भारत की G20 अध्यक्षता के तहत दूसरी सस्टेनेबल फाइनेंस वर्किंग ग्रुप (SFWG) की बैठक आज राजस्थान के उदयपुर में शुरू हुई। तीन दिवसीय बैठक के दौरान वैश्विक विकास और स्थिरता सुनिश्चित करने में मदद करने के लिए स्थायी वित्त जुटाने के लिए प्रासंगिक नीतियों और बेहतर पद्धतियों की पहचान पर ध्यान केंद्रित की गई। इस समूह की बैठक में पहली बार जलवायु परिवर्तन से संबंधित मुद्दों से आगे प्रकृति से संबंधित डेटा और रिपोर्टिंग तथा उसके सामाजिक प्रभाव पर चर्चा की गई।

बैठक के दौरान जलवायु परिवर्तन के लिए वित्तीय संसाधन जुटाने के लिए तंत्र को लेकर विस्तार से चर्चा की गई। साथ ही जलवायु बजट टैगिंग, जन भागीदारी कार्यक्रम और पर्यावरण के लिए क्षमता निर्माण जैसे विषयों पर भी मंथन किया गया। तीन दिवसीय बैठक के दौरान विभिन्न देशों के 90 से अधिक प्रतिनिधि हिस्सा ले रहे हैं। यह बैठक 23 मार्च तक चलेगी।

बैठक से इतर आज कार्यशाला का भी आयोजन किया गया जहां सतत निवेश का समर्थन करने के लिए पहली कार्यशाला गैर-मूल्य निर्धारण नीति पर आधारित थी। दूसरी कार्यशाला बुधवार यानी 22 मार्च को आयोजित की जाएगी जो सतत विकास लक्ष्यों के लिए वित्त को सक्षम करने पर आधारित होगी। दूसरे G20 सस्टेनेबल फाइनेंस वर्किंग ग्रुप की प्रस्तावना के रूप में भारत की G20 अध्यक्षता के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए विभिन्न ‘जन भागीदारी’ कार्यक्रम 18 से 23 मार्च के बीच उदयपुर में आयोजित किए जा रहे हैं। इन आयोजनों में MSME उद्यमियों के लिए टाउनहॉल मीटिंग, एसडीजी के वित्तपोषण की खाई को पाटने पर संगोष्ठी, IIM उदयपुर में माइक्रोफाइनेंस की भूमिका, ‘ग्रीन फाइनेंस-ए वे फॉरवर्ड’ पर सम्मेलन, डिजिटल बैंकिंग शिक्षा कार्यक्रम, साइबर स्वच्छता और साइबर सुरक्षा पर सत्र, G20 फाइनेंसियल लिटरेसी वॉकथॉन, वित्तीय साक्षरता शिविर, जयपुर द्वारा मेला और जागरूकता कार्यक्रम आदि शामिल है।

एक दिन पहले उदयपुर पहुंचे सभी अतिथियों का मेवाड़ी शैली में भव्य स्वागत किया गया। बैठक में आए सभी विदेशी मेहमानों का 24 मार्च को कुंभगलढ़ फोर्ट ले जाने का कार्यक्रम निर्धारित है। एसएफडब्ल्यूजी की पहली बैठक इस साल 2 और 3 फरवरी को गुवाहाटी में हुई थी। तीसरी बैठक महाबलीपुरम और चौथी वाराणसी में होगी।

Related posts

Mirzapur : खस्ता हाल सड़क बनी मुसीबतों की सबब, जन प्रतिनिधि ने बनाया अपना चुनावी मुद्दा

Khula Sach

Mirzapur : सेवानिवृत्त सैनिको की समस्याओ को प्राथमिकता पर करे निस्तारण अधिकारी

Khula Sach

ज्योति सक्सेना ने राजनीति में शामिल होने की इच्छा व्यक्त करते हुए कहा, “देश के लिए कुछ करने का और सही के लिए आवाज उठाने का माध्यम है

Khula Sach

Leave a Comment