Khula Sach
कारोबारताज़ा खबर

नर्चर.फार्म ने एचडीएफसी एर्गो के साथ साझेदारी की

~ किसानों का जीवन बेहतर बनाने के लिए बीमा सेवायें पेश करेगी

मुंबई : भारत के प्रमुख एगटेक स्टार्ट-अप, नर्चर.फार्म (nurture.farm) ने देश की प्रमुख सामान्य बीमा कंपनी में से एक, एचडीएफसी एर्गो जनरल इंश्योरेंस कंपनी के साथ साझेदारी की है। इस अनुबंध के बाद नर्चर.फार्म पर अपने प्लेटफॉर्म पर मौजूद 23 लाख किसानों के लिए अपने बीमा समाधानों को बेहतर करेगी और इनका विस्तार करेगी।

नर्चर.फार्म के सीटीओ, श्री प्रणव तिवारी ने कहा, “भारत में बीमा की पहुंच कम होना हमारे किसानों के लिए दुख का कारण है। उन्हें हर तरह के जोखिम जैसे कीड़े, मौसम, कीमत में उतार-चढ़ाव, खेत पर दुर्भाग्य आदि का सामना करना पड़ता है। बीमा उत्पाद की कमी और इन जोखिमों से बचाने वाले बीमा समाधान नहीं होने के कारण वे आर्थिक रूप से कमजोर और शोषण का शिकार होने के मामले अतिसंवेदनशील हैं। एचडीएफसी एर्गो के साथ हमारी साझेदारी का उद्देश्य किसानों के संकट को कम करना है। यह गठजोड़ हमें किसानों को लचीला बनाने और भारत के कृषक समुदाय को स्थायी परिणाम देने के हमारे उद्देश्य के करीब पहुंचने में मदद करेगा।”

किसानों को कृषि चक्र के प्रत्येक चरण में तरह-तरह के जोखिमों का सामना करना पड़ता है। इन जोखिमों में मौसम की अनिश्चितता से लेकर फसल के उत्पादन पर प्रतिकूल प्रभाव, काम की प्रकृति के कारण निजी स्वास्थ्य से संबंधित जोखिम और बाजार में कीमत के उतार-चढ़ाव के कारण किसानों के लिए भारी राजस्व हानि तक कुछ भी या सबकुछ हो सकता है। ज्यादातर किसान महंगे प्रीमियम और इससे जुड़े थकाऊ कागजी कार्रवाई के कारण बीमा का विकल्प नहीं चुनते हैं। दूसरी ओर, इस मुद्दे की व्यापकता के कारण, नर्चर.फार्म का लक्ष्य 2022-23 में लगभग 20 लाख किसानों को अपने बीमा समाधान पेश करना है। किसानों का लचीलापन बढ़ाने और जोखिम कम करने वाले समाधान मुहैया कराने के लिए यह निरंतर नवाचार करता रहेगा।

एचडीएफसी एर्गो के अपॉइंटेड एक्चुअरी हितेन कोठारी ने कहा, “एचडीएफसी एर्गो में, हम ग्रामीण समुदाय को वित्तीय सुरक्षा प्रदान देने और स्थायी खेती को प्रोत्साहित करने के लिए अभिनव बीमा समाधान लाने के लिए प्रतिबद्ध हैं। फसल बीमा की कम पहुंच को ध्यान में रखते हुए मौसम बीमा उत्पादों का विस्तार जरूरी है। हम नर्चर.फार्म के विजन में विश्वास रखते हैं और एक लंबे तथा फायदेमंद सहयोग की आशा करते हैं।”

उत्पादकों, कृषक समुदायों और खाद्य प्रणालियों के लिए एक खुला डिजिटल प्लेटफॉर्म, नर्चर.फार्म सक्रिय रूप से कृषि उत्पादों को मजबूत करने, उन्हें भविष्य की पीढ़ियों के लिए लाभदायक और स्थायी बनाने के मिशन पर काम कर रहा है। कंपनी को हाल ही में भारत के बीमा नियामक और विकास प्राधिकरण से एक कॉरपोरेट एजेंसी लाइसेंस भी मिला है। यह लाइसेंस नर्चर.फार्म को किसानों को लागत प्रभावी कीमतों पर नवीन बीमा समाधानों तक पहुंचने में मदद करने में सक्षम बनाता है। nurture.farm का इरादा किसानों को रिमोट सेंसिंग-आधारित कृषि-स्तरीय बीमा, फसल, स्वास्थ्य और आय के जोखिमों को कम करने की पेशकश करना है। यह भारत के किसानों में आर्थिक लचीलापन लाने में मदद करने के लिए लापता लिंक में से एक है।

Related posts

कनिष्का दुबे को मिला राष्ट्रीय बेटी दिवस पर सम्मान

Khula Sach

आंध्र बैंक की सभी शाखाओं का यूनियन बैंक ने पूरा किया आईटी इंटिग्रेशन

Khula Sach

एमएसएमई को डिजिटल बनाने में मदद करेगी ट्रेडइंडिया

Khula Sach

Leave a Comment