Khula Sach
ताज़ा खबरमीरजापुर

Mirzapur : मण्डलायुक्त ने विकास प्राथमिकता वाले कार्यकमों के प्रगति की समीक्षा की

♦ सामुदायिक शौचालयों व पंचायत भवनों को पूर्ण कराने में तेजी लाने का निर्देश

♦ 50 लाख से उपर के निर्माण कार्यो में टीम बनाकर जिलाधिकारी करकायें जॉच

♦ कानून व्यवस्था चुस्त-दुरूस्त करने के साथ परिवहन, आबकारी स्टाम्प की वसूली के लक्ष्य पूरा करने का भी दिया गया निर्देश

♦ कोवड वैक्सीन के रख-रखाव अभियान की तैयारियों की ली गयी जानकारी

रिपोर्ट : संदीप श्रीवास्तव

मीरजापुर, (उ.प्र.) : आयुक्त विन्ध्याचल मण्डल प्रीति शुक्ला एवं आई0जी0 पीयूष श्रीवास्तव ने 13 जनवरी 2021 को आयुक्त कार्यालय के सभागार में मण्डल के तीनों जनपदों मीरजापुर, सोनभद्र एवं भदोही जिलों के जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक सहित मण्डलीय अधिकारियों के साथ बैठक कर शासन की 37 बिन्दु विकास प्राथमिकता वाले कार्यक्रमों से सम्बन्धित कराये जा रहे कार्यो की प्रगति, कर एवं करेत्तर, मुख्य देय व राजस्व वसूली तथा कानून व्यवस्थाओं से सम्बंधित प्रगति की विस्तृत समीक्षा की गयीं।

बैठक मण्डलायुक्त द्वारा आत्म निर्भर भारत अभियान के तहत ग्राम पंचायतों में बनाये जा रहे सामुदायिक शौलचालयों एवं पंचायत भवनों की समीक्षा के दौरान उप निदेशक पंचायती राज को निर्देशित किया कि निर्माणाधीन सभी सामुदायिक शौचालयों एवं पंचायत भवनों के कार्यो में तेजी लाते कार्य को पूर्ण कराया जाए। उन्होंने कहा कि सम्बंधित विभाग के अधिकारी कार्य कही गुणवत्ता की जॉच समय-समय पर करें, यदि कहीं गुणवत्ता खराब पायी जाती है तो सम्बंधित विभाग के अधिकारी कों जिम्मेदार मानते हुये कार्यवाही की जायेगीं। इसी प्रकार कायाकल्प योजना के सभी विद्यालयों को आच्छादित करने का निर्देश दिया गयां। आयुक्त ने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी एवं ग्रामीण की समीक्षा के दौरान कहा कि प्राप्त धनराशि के सापेक्ष लाभार्थियों को द्वितीय व तृतीय किस्त दिया जाये तथा निर्माणधीन आवासों को पूर्ण करायें। उन्होने बिजली विभागी की समीक्षा के दौरान सभी सरकारी विभागिय अधिकारियों को निर्देशित किया। विभाग में लम्बित विजली बकाया बिलों को तत्काल जमा करान सुनिश्चित करायें। यदि विभाग के धनराशि न हो तो अपने विभाग से पत्राचार करके धनराशि की मांग अवश्य कर लें। नई सडकों के निर्माण व अनुरक्षण में जनपद भदोही की प्रगति कम होने अधीक्षण अभियन्ता को निर्देशित किया गया कि कार्य में तेजी लायें। जिस पर जिलाधिकारी भदोही के द्वारा अवगत कराया गया कि धनराशि प्राप्त न होने के कारण प्रगति धीमा है। धनराशि की मांग के लिये पत्राचार किया गया है।

इसी प्रकार राज्य मार्गो के अनुरक्ष में जनपद सोनभद्र की प्रगति बतायी गयीं निराश्रित गोवंश आश्रय स्थलोंं की समीक्षा के दौरान आयुक्त ने कहा कि आश्रयों में रह रहे सभी पशुओं का इयर टैगिंग शत प्रतिशत करायें। आयुक्त द्वारा 50 लाख से उपर के निर्माण कार्यो की समीक्षा के दौरान सभी जिलाधिकारी को निर्देशित किया कि निर्माण कार्यो की गुणवत्ता की जांच के लिये स्थलीय निरीक्षण करें तथा टीम गठित कर गुणवत्ता की जॉच करायी जाय तथा जॉच टीम सत्यापन के बाद रिपोर्ट सम्बंधित जिलाधिकारी व मण्डलायुक्त के कार्यालय में समय से उपलब्ध करायें। स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा के दौरान आयुक्त द्वारा आगामी 16 जनवरी को कोविड वैक्सीन लगाने की सभी तैयारियों पर जनपद वार समीक्षा की तथा कहा कि किसी भी स्तर पर लापरवाही न होने पायें। वैक्सीन के रख-रखव सभी केन्द्रों पर पहुॅचाने के लिये सभी तैयारियों पूर्व में ही कर ली जाये। उन्होंने यह भी कह कि प्रथम चरण में जिसे वैक्सीन का टीककरण किया जाना है उन सभी का रजिस्ट्रेशन हुआ हो। आयुक्त द्वारा मनरेगा, अमृत योजना, पेयजल योजना, सेतु निगम, पेंशन, छात्रवृत्ति, मुख्यमंत्री आरोग्य स्वास्थ्य मेला की भी समीक्षा की गयी। मुख्यमंत्री आरोग्य मेला के लिये कहा कि गोल्डेन कार्ड आरोग्य स्वास्थ्य के दौरान भी बनाया जाये। समीक्षा के दौरान शादी अनुदान, राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अभियान, रिक्त दुकानों का आवंटन, वृक्षारोपण की तैयारी, श्रम मानधन योजना, सहित नहरों में टेल तक पानी पहुॅचाना, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि, फसल बीमा योजना, चिकित्सकों की उपलब्धत, आयुष्मान भारत, राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम, दवाओं की उपलब्धता, हैण्डपम्पों का रीबोर, अपशिष्ट प्रबन्धन, स्वच्छ भारत मिशन, कन्या सुंगला योजना, सहित सभी बिन्दुओं पर समीक्षा की गयी तथा प्रगति लाने का निर्देश दिया गया।

तदुपरान्त मण्डलायुक्त द्वारा कानून व्यवस्था की समीक्षा के दौरान सभी पुलिस अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि वे अपने-अपने क्षेत्रों में कानून व्यवस्था को चुस्त-दुरूस्त बनाये रखने के लिये प्रीावी कार्यवाही करें, कहीं भी किसी वारदात पर एफ0आई0दर्ज कर त्वरित कार्यवाही करें। इस अवसर पर गुण्डा एक्ट, महिला उत्पीडन, अनुसूचित जाति जनजाति उत्पीडन, पाक्सो एक्ट, गैगेस्टर, सहित अन्य बिन्दुओं पर समीक्षा कर आवश्यक निर्देश दिये गये।

आयुक्त द्वारा कर एवं करेत्तर, मुख्य देयों, राजस्व सूली तथा वादों के निस्तारण के सम्ब्न्ध में भी बिन्दुवार समीक्षा की गयी। उनहोंने परिवहन, आबकारी, स्टाम्प के कम लक्ष्य पर नाराजगी व्यक्त करते हुये लक्ष्य को पूरा करने का निर्देश दिया। सभी अपर जिलाधिकारी को निर्देशित किया गया कि वरासत व खतौनियों मिलान, तथा स्वामित्य योजना के तहत प्रभावी कार्यवाही करते हुये शत प्रतिशत प्रकरणों का निस्तारण सुनिश्चित करायें। इस अवसर परवादों के निस्तारण की समीक्षा के दौरान कहा कि 5 साल अधिक वादों को प्राथमिकता के आधार पर समाप्त करायें।

इस अवसर पर जिलाधिकारी मीरजापुर प्रवीण कुमार लक्षकार, सोनभद्र अभिषेक सिंह, भदोही राजेन्द्र प्रसाद, पुलिस अधीक्षक मीरजापुर अजय कुमार एवं पुलिस अधीक्षक सोनभद्र व भदोही, अपर आयुक्त सूरेन्द्र बहादुर सिंह यादव, रमेश चन्द्र, संयुक्त विकास आयुक्त, मुख्य विकास अधिकारी अविनाश सिंह के अलावा अन्य दोनो जनपदों के मुख्य विकास अधिकारी व मण्डलीय अधिकारी उपस्थित रहे।

Related posts

Mirzapur : जिले में शुरू है भोजपुरी फिल्म “प्रेम रोगी” की शूटिंग

Khula Sach

पत्नी ने चाय बनाने में की देरी, तो पति ने धड़ से अलग कर दिया सिर

Khula Sach

विटामिन खाने के कुछ देर बाद ही कोई टेबलेट खाएं

Khula Sach

Leave a Comment