Khula Sach
ताज़ा खबरदेश-विदेश

Chhatarpur : छत्रसाल चौराहे पर स्थित प्रतिष्ठित कृष्णा स्वीट में लगी भीषण आग, 4 गैस सिलेण्डर फटने से दहला शहर

डीएसपी शशांक जैन, टीआई दांगी, प्रदीप सर्राफ ने संभाला मोर्चा, बड़ा हादसा टला

रिपोर्ट : निर्णय तिवारी

छतरपुर, (म0प्र0) :  छतरपुर/ शहर के व्यस्ततम छत्रसाल चौराहे पर बुधवार की सुबह साढ़े 11 बजे उस समय अचानक अफरा-तफरी मच गई जब प्रतिष्ठित मिष्ठान भंडार कृष्णा स्वीट में आग लग गई। आग लगने से एक नहीं बल्कि दुकान के अंदर रखे 4 गैस सिलेण्डर एक-एक करके फट गए और सिलेण्डर फटने के धमाकों से आधा शहर दहल गया। लोग इधर-उधर छत्रसाल चौराहे से भागते नजर आए। आग पीछे के हिस्से से लगी और धीरे-धीरे विकराल रूप धारण कर आगे वाले हिस्से तक पहुंच गई। जिससे दुकान का सारा सामान जलकर खाक हो गया। घटना की जानकारी लगते ही डीएसपी शशांक जैन, कोतवाली टीआई अरविंद दांगी और शासकीय कार्य से छतरपुर आए सटई थाना प्रभारी प्रदीप सराफ मौके पर पहुंचे और लोगों के सहयोग से आग बुझाने में जुट गए।

नगर पालिका की फायर ब्रिगेड के देरी से पहुंचने पर बढ़ा नुकसान

जिस स्थान पर आगजनी की यह भीषण घटना हुई वह स्थान नगर पालिका से चंद कदम की दूरी पर है और नगर पालिका की फायर ब्रिगेड व्यवस्था की इस घटना से पोल खुल गई। क्योंकि चंद कदम की दूरी पर नगर पालिका होने के बाद भी आधे घंटे बाद नगर पालिका की एक फायर ब्रिगेड पहुंची इसके बाद गढ़ीमलहरा, सटई और नौगांव की फायर ब्रिगेडों तथा पुलिस व नगर पालिका के टैंकरों ने मौके पर पहुंचकर आगजनी पर काबू पाया। हालांकि सीएमओ ओमपाल सिंह भदौरिया भी आग बुझाने के काम में तत्परता के साथ जुटे रहे। लेकिन यह जरूर है कि नगर पालिका की फायर ब्रिगेड यदि समय पर पहुंच जाती तो इतना बड़ा नुकसान न हो पाता।

कर्मचारियों ने भागकर बचाई जान

कृष्णा स्वीट के पिछले हिस्से में टेलीफोन एक्सचेंज की ओर खाद्य सामग्री बनाने का काम होता है और वहां कई मिस्त्री मिठाइयां बना रहे थे और दुकान के अंदर दर्जनों गैस सिलेण्डर रखे हुए थे। लेकिन अज्ञात कारणों के चलते जैसे ही आग लगी और इतनी जल्दी विकराल रूप धारण किया कि एक-एक करके 4 सिलेण्डर ब्लास्ट हो गए। लगभग दो घंटे तक चार फायर ब्रिगेडों और पानी के टैंकरों से आग बुझाने का काम किया गया तब कहीं आग पर नियंत्रण पाया गया। गनीमत यह रही कि आगजनी की इस भीषण घटना से अगल-बगल के दुकानदारों को ज्यादा नुकसान नहीं पहुंचा। हाँ इतना जरूर है कि आग बुझाते समय पानी से सामान जरूर भीग गया। अगर यह आग अगल-बगल की दुकानों में फैल जाती तो कपड़े की दुकान, किराना दुकान तथा पीछे दवाई की दुकान में भी आग भीषण रूप ले सकती थी।

लगभग 20 लाख का नुकसान बताया

कृष्ण स्वीट के संचालक कृष्णकुमार अग्रवाल (गोटीराम)ने बताया कि इस आगजनी की घटना में उनका लगभग 20 लाख रुपए का नुकसान है। हालांकि उन्होंने कोई जनहानि न होने पर संतोष व्यक्त किया और कहा कि इसकी भरपाई हो जाएगी लेकिन जनहानि होती तो भरपाई होना मुश्िकल था। इसके अलावा सीताराम डेंटल बृजेन्द्र दुबे की दुकान एवं क्लीनिक पूरी तरह से जल गई। आगजनी में बृजेंद्र दुबे का भी लाखों का नुकसान हो गया। अजय किराना, सहसनगर वालों का भी कुछ नुकसान हुआ। आगजनी की घटना की खबर पाकर भाजपा की प्रदेश मंत्री ललिता यादव, पूर्व नपाध्यक्ष अर्चना सिंह, विधायक पुत्र मिक्की चतुर्वेदी, पूर्व जनपद अध्यक्ष मोनू यादव सहित अन्य लोग मौजूद रहे। प्रशासनिक अधिकारियों में अपर कलेक्टर, एसडीएम, तहसीलदार भी राजस्व अमले के साथ घटनास्थल पर मौजूद रहे

Related posts

Mirzapur : कोणार्क ग्रैंड होटल को एक और अवार्ड से किया गया सम्मानित

Khula Sach

E-Book : शब्द बोलते हैं

Khula Sach

सीटीईटी रिजल्ट घोषित न होने से हताशा की स्थिति

Khula Sach

Leave a Comment