Khula Sach
खेल ताज़ा खबर देश-विदेश

Delhi : विश्वयोग-दिवस पर आयुर्वेदिक कैंसर अस्पताल में जैन-मुनि एंव योगाचार्य ने मौजूद सभी लोगों को (योग-स्वास्थ्य) लाभ से अवगत करवाया

✍️ अनीता गुलेरिया

दिल्ली : अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर योग-संबंधित आयोजित कार्यक्रम में कई गणमान्य लोगों ने शिरकत की जैन मुनि योगाचार्य विवेक मुनि ने घेवरा स्थित कार्यक्रम दौरान वहां मौजूद सभी लोगों को योगासन के करने से होने वाले स्वास्थ्य लाभ के बारे में अवगत करवाते हुए कहा,समस्त विश्व में भारत को आयुर्वेदिक (जननी) के रूप में पहचान मिली है । यह हम सभी के लिए बड़े गर्व की बात है, इसी के साथ उन्होंने योगासन के कई महत्वपूर्ण गुणो से सभी को परिचित करवाया । उन्होंने कहा आज के इस दौर में अपने आप को निरोगी बनाए रखना हर इंसान की सबसे बड़ी जिम्मेदारी होनी चाहिए । योगाभ्यास करके हमे अपने शरीर को पूरी तरह से सेहतमंद रखते हुए अन्य लोगों भी योग के फायदेमंद गुणों से अवगत करवाकर कर अपनी इस अमुल्य धरोहर को जिंदा रखना है इस प्रयास से हम अपनी आने वाली पीढ़ी के जीवनशैली को पूरी तरह से संरक्षित रखने में कामयाब हो सकते हैं । आज वैश्विक महामारी आपदा जैसे दौर में हम योगासन द्वारा इन जैसे भयंकर रोगों से भी मुक्ति पा सकते है । इस कार्यक्रम में आयुर्वेदाचार्य वैद्य ताराचंद शर्मा प्रधान अतुल सिंघल,वेद राज भारत देव मुरारी समाजसेवी सुरेश जैन,पंडितअनिल वत्स सहित कई गणमान्य-व्यक्ति प्रमुख तौर पर इस आयोजन का हिस्सा रहे । आर्युवेदिक कैंसर अस्पताल के प्रधान-अतुल सिंघल ने अपने संबोधन में कहा,महामारी कोरोना संक्रमण से पीड़ित हजारों-लाखों मरीजों ने योग व प्राणायाम करके काफी हद तक स्वास्थ्य लाभ को प्राप्त किया है व हमने प्राणायाम के सकारात्मक परिणामों को देखते हुए अब हम आयुर्वेदिक कैंसर अस्पताल के परिसर में पोस्ट कोविड केयर सेंटर की शुरुआत कर रहे हैं,हमें पूरा विश्वास है यहा पर मरीज योगाप्राणायाम क्रिया से कैंसर जैसी गंभीर-बीमारियों से लड़ने में सक्षम बनकर हमेशा के लिए कैंसर विजेता बनेंगे । इसी के साथ आयोजन के अंत में सभी ने योग व प्राणायाम को समस्त देश में फैलाने की शपथ-ग्रहण करते हुए कहा,इस धरा की अनमोल धरोहर को देश-दुनिया मे सार्थकमयी बनाने के लिए समस्त धरा प्राणी की जीवनशैली के संरक्षण हेतु हम अग्रसरित तौर पर कार्य करते रहेंगे,जिसके लिए हम पूरी तरह से दृढ़-संकल्पित है।

Related posts

Poem : बिन मौसम वाली जिंदगी 

Khula Sach

Mumbai : एक होटल में मृत मिले निर्दलीय सांसद Mohan Delkar, गुजराती में लिखा सुसाइड नोट बरामद

Khula Sach

कोरोना जैविक हमले में ‘मीठा-मीठा गप, कड़वा-कड़वा थू’ कहावत लागू हो रही है

Khula Sach

Leave a Comment