Khula Sach
कारोबार ताज़ा खबर

थिंक ग्रीन एनर्जी, थिंक अदाणी… मुंबईकरों को एईएमएल द्वारा ग्रहण की जा रही ग्रीन पावर के बड़े हिस्से का फायदा होगा

अदाणी इलेक्ट्रिसिटी मुंबई के ग्राहकों के लिये लेकर आया हरित ऊर्जा

सभी ग्राहकों के लिये व्यक्तिपरक ग्रीन एनर्जी सॉल्यूशंस (हरित ऊर्जा समाधानों) की पेशकश

मुंबई : मुंबई का सबसे बड़ा बिजली वितरक अदाणी इलेक्ट्रिसिटी मुंबई लिमिटेड (एईएमएल) मुंबई द्वारा ग्रीन एनर्जी (हरित ऊर्जा) को अपनाये जाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।

ग्राहकों के रिन्यूएबल एनर्जी से जुड़े लक्ष्यों और आकांक्षाओं की पूर्ति के लिये एईएमएल मुंबई ग्रीन एनर्जी इनिशिएटिव लॉन्च कर रहा है। इस प्रोग्राम के अंतर्गत, ग्राहकों के पास रिन्यूएबल एनर्जी के लिये अपने लक्ष्य निर्धारित करने की लोचशीलता होगी।

एईएमएल स्थायित्व के लिये प्रतिबद्ध है और पेरिस समझौते के तहत अपारंपरिक योग्य ऊर्जा से जुड़े लक्ष्यों की प्राप्ति के लिये भारत की प्रतिबद्धताओं के अनुसार काम कर रहा हैं। एईएमएल साल 2023 तक ऊर्जा की अपनी जरूरत के 30 प्रतिशत से ज्यादा की सोर्सिंग अपारंपरिक ऊर्जा से करेगा और फिर इसे 50 प्रतिशत तक बढ़ाएगा, जिसके लिये आरटीसी पावर से अतिरिक्त 1000 मेगावाट लेने के लिये उसे एमईआरसी से स्वीकृति मिल चुकी है, जिसमें 5 प्रतिशत से ज्यादा कम्पोनेंट आरई पावर का होगा।

एईएमएल के ग्राहक इन्हें अपना सकते हैं

  • अतिरिक्त 66 पैसे का भुगतान कर 700 प्रतिशत आरई पावर प्रदान करने की एमईआरसी दूवारा घोषित मौजूदा योजना के अंतगत आरई पावर खरीदने के विकल्प ले सकते है
  • एईएमएल अपने गाहकों को आरई प्रमाणपत्र पदान कर सकेगा, क्योंकि उसे वर्ष 2022-23 के अंत तक राजस्थान में हाइब्रिड सौर एवं पवन उत्पादन से 700 मेगावाट की आपूर्ति मिलेगी। इसमें ग्रीन एनर्जी के महत्वपूर्ण कम्पोनेंट के साथ अतिरिक्त 1000 मेगावाट बिजली भी जुड़ेगी (इसे एमईआरसी के पास अनुमोदन के लिये भेजा जा चुका है)।

एमईआरसी के अनुमोदन के अनुसार, एईएमल (महाराष्ट्र के अन्य सभी डिस्कॉम्स की तरह) अब अपने ग्राहकों को 66 पैसा प्रति यूनिट के अतिरिक्त टैरिफ के साथ नवीकरण योग्य ऊर्जा के माध्यम से ऊर्जा से जुड़ी उनकी 100 प्रतिशत जरुरत पूरी करने का विकल्प दे रहा है।

एईएमएल की नई पहल से उसके उन ग्राहकों को मदद मिलेगी, जिनका ग्लोबल फुटप्रिंट है और जिनका लक्ष्य अपारंपरिक स्त्रोतों से अपने कुल ऊर्जा उपभोग का 25 प्रतिशत या ज्यादा हिस्सा सोर्स करना है, और यह आरई प्रमाणपत्रों से हो सकता है। यह खोजपरक कदम ग्राहकों के स्थायित्व सम्बंधी लक्ष्यों की पूर्ति में महत्वपूर्ण योगदान देगा।

अपारंपरिक ऊर्जा की सीधी आपूर्ति और अप्रत्यक्ष समायोजन को मिलाकर एईएमएल अपने कॉर्पोरेट ग्राहकों को मुंबई, भारत और वैश्विक स्तर पर स्थायित्व के लिये अपनी प्रतिबद्धताओं पर खरा उतरने के योग्य बनाएगा।

एईएमएल के सीईओ और एमडी श्री कंदर्प पटेल ने कहा, “कंपनी अपनी अपारंपरिक ऊर्जा परियोजनाओं का विस्तार कर रही है, जिससे उसके ग्राहक अपनी ऊर्जा के स्रोत का चुनाव करने के लिये सशक्त होंगे और ग्रीन इलेक्ट्रॉन्स सभी की पहुंच में होंगे और हरित ऊर्जा को अपनाना आसान होगा। हम मुंबई में बिना किसी बदलाव या रुकावट के हरित ऊर्जा की 100 प्रतिशत आपूर्ति और प्रमाणपत्रों की गारंटी दे सकते हैं। हम सभी ग्राहकों के लिये अपारंपरिक योग्य ऊर्जा के व्यक्तिपरक समाधान निर्मित करेंगे, ताकि वे अपारंपरिक ऊर्जा के अवसरों का पूरा फायदा लें और अपने सस्टेनेबिलिटी लक्ष्यों को हासिल करें।”

मुंबई ग्रीन एनर्जी इनिशियेटिव एक स्वैच्छिक प्रोग्राम है, जो एईएमएल के मौजूदा और संभावित ग्राहकों के लिये है। सभी मौजूदा और नये ग्राहक इसमें भाग ले सकते हैं। एईएमएल ऐसे ग्राहकों के लिए मासिक प्रमाणपत्र जारी करेगा, जिसमें बिजली की उनकी जरूरतों का वह प्रतिशत (%) होगा, जिसे अपारंपरिक ऊर्जा से सोर्स किया गया हो।

एईएमएल एक स्थायी भविष्य के लिये अपने ग्राहकों से इस खोजपरक पहल में भाग लेने का आग्रह करता है। एईएमएल आरई 100 के सभी सदस्यों का स्वागत करता है, जो कि एक वैश्विक पहल हैं, जिसमे विश्व के सबसे प्रभावशाली बिजनेस एक साथ आते हैं, जो 100 प्रतिशत नवीकरण योग्य बिजली के लिये प्रतिबद्ध हैं।

एईएमएल अपने ग्राहकों को किफायती, भरोसेमंद और स्थायी बिजली आपूर्ति देने पर केन्द्रित है। एईएमएल आवासीय, वाणिज्यिक और औद्योगिक ग्राहकों के एक विविधतापूर्ण समूह को सेवा देता है और हर उपभोक्ता की आकांक्षाओं को समझता है।

Related posts

भोजपुरी फिल्म “सजना को भा गई सजनी” का मुहूर्त संपन्न

Khula Sach

‘जेएल स्ट्रीम’ बना ऑनलाइन कंटेंट क्रिएटर्स की पहली पसंद

Khula Sach

एएससीआई ने डिजिटल मीडिया पर प्रभावशाली विज्ञापन के लिए दिशा-निर्देश तैयार किए

Khula Sach

Leave a Comment