Khula Sach
कारोबारताज़ा खबर

एंजल ब्रोकिंग ने अपने प्लेटफॉर्म पर ‘स्मॉलकेस’ सेवाएं पेश की

~ ग्राहकों के लिए इक्विटी और ईटीएफ में पर्सनलाइज्ड, स्मॉल-टिकट, थीमेटिक निवेश की सुविधा

मुंबई : अपने ग्राहकों को बेहतर पारदर्शिता और पेशेवर रूप से प्रबंधित स्टॉक बास्केट के साथ अपने दीर्घकालिक इक्विटी पोर्टफोलियो का निर्माण करने के लिए प्रेरित करते हुए एंजल ब्रोकिंग लिमिटेड ने अब अपने सभी प्लेटफार्मों पर स्मॉलकेस की पेशकश को इंटीग्रेट किया है। नया इंटीग्रेशन एंजल ब्रोकिंग ग्राहकों को उद्देश्य, थीम या स्ट्रैटजी के आधार पर स्टॉक या ईटीएफ के क्यूरेटेड बास्केट खरीदने में सक्षम करेगा।

स्मॉलकेसेस स्टॉक/ईटीएफ के पोर्टफोलियो हैं जो भारत के टॉप सेबी-रजिस्टर्ड एडवाइजर्स और रिसर्च प्रोफेशनल्स द्वारा बनाए और प्रबंधित किए जाते हैं। सभी निवेश एक उद्देश्य, थीम, या स्ट्रैटजी जैसे कि ’स्मार्ट बीटा’, ‘थीमैटिक और सेक्टोरल’, ‘ऑल वेदर इन्वेस्टिंग’, और ईटीएफ-आधारित स्मॉलकेस के साथ-साथ अन्य बाजार अवसरों पर आधारित होते हैं। इन स्मॉलकेस को उनके रिस्क एक्सपोजर और न्यूनतम निवेश राशि के आधार पर और वर्गीकृत किया जा सकता है।

ग्राहकों के लिए स्मॉलकेस के कुछ फायदों में परफॉर्मंस की ट्रैकिंग, रीबैलेंसिंग, एसआईपी-आधारित निवेश, पोर्टफोलियो हेल्थ एनालिसिस और पार्शियल एक्जिट शामिल हैं। ग्राहक अपने स्वयं के स्मॉलकेस भी बना सकते हैं जिसमें 50 स्टॉक तक निर्बाध रूप से शामिल हो सकते हैं। स्मॉलकेस का उपयोग करने के लिए कोई अतिरिक्त शुल्क नहीं लिया जाएगा।

एंजल ब्रोकिंग लिमिटेड के सीईओ विनय अग्रवाल ने कहा, “अब यह समय के साथ आवश्यक हो गया है कि निवेशकों को अधिकतम रिटर्न देने के लिए प्रौद्योगिकी का अधिक से अधिक उपयोग करें। ‘स्मॉलकेस’ का इंटीग्रेशन उन कई तरीकों में से एक है जिसमें एंजल ब्रोकिंग अपने ग्राहकों के लिए यह सुनिश्चित करता है। एंजल ब्रोकिंग ग्राहक अब स्टॉक / ईटीएफ बास्केट के माध्यम से आसानी से नेविगेट हो सकते हैं जो संबंधित बेंचमार्क सूचकांकों को बेहतर बनाते हैं। वे अपनी अनूठी निवेश रणनीति और जोखिम की भूख के अनुसार अधिक विकल्पों का भी लाभ उठा सकते हैं।”

एंजल ब्रोकिंग लिमिटेड के चीफ ग्रोथ ऑफिसर, प्रभाकर तिवारी ने कहा “एंजल ब्रोकिंग ने कई तकनीकी चालित प्रक्रियाओं, साधनों और प्लेटफार्म विकसित कर निवेशक यात्रा को सरल बनाया है। इस दृष्टिकोण का लाभ उठाते हुए हम भारतीय खुदरा भागीदारी को सक्रिय रूप से चलाते हुए बेहतर संपदा सृजन के साथ प्रत्येक भारतीय को सशक्त बनाने की कल्पना करते हैं। हालांकि, इस विज़न के लिए लक्षित चरणों की आवश्यकता है जो लोगों के इस सेग्मेंट में प्रवेश की मुख्य बाधाओं को दूर करते हैं।”

Related posts

ट्रेडिंग यात्रा की शुरुआत में लंबी अवधि के लिए निवेश बेहतर विकल्प

Khula Sach

आंध्र बैंक की सभी शाखाओं का यूनियन बैंक ने पूरा किया आईटी इंटिग्रेशन

Khula Sach

Delhi : कलस्टर बस व स्विफ्ट-कार की जोरदार टक्कर चार की मौत

Khula Sach

Leave a Comment