Khula Sach
ताज़ा खबरमीरजापुरराज्य

Mirzapur : उत्तर प्रदेश उपभोक्ता कल्याण परिषद ने “विश्व उपभोक्ता अधिकार दिवस” मनाया

रिपोर्ट : आशुतोष गुप्ता

मीरजापुर, (उ.प्र.) : उत्तर प्रदेश उपभोक्ता कल्याण परिषद ने “विश्व उपभोक्ता अधिकार दिवस” मनाया। इस दौरान प्रिंसिपल सेक्रेटरी के.एस. परमार व सजंय श्रीवास्तव जोन चेयरमैन पूर्वी के दिशा निर्देशन में गोष्ठी का आयोजन किया गया। चेयरमैन आनन्द विश्वकर्मा ने बताया आज के इस दौर में हर एक शख्स उपभोक्ता है ग्राहक हैं ऐसे वैसे अपने अधिकारों के प्रति जागरूक रहना चाहिए वर्ल्ड कंज्यूमर राइट्स डे इसीलिए मनाया जाता है ताकि वैश्विक स्तर पर उपभोक्ता अधिकारों को संरक्षण मिले।

हर साल 15 मार्च को विश्व उपभोक्ता दिवस मनाया जाता है। इसमें उपभोक्ताओं को उनके अधिकारों के प्रति जागरूक किया जाता है, साथ ही उपभोक्ताओं को जालसाजी और धोखाधड़ी से बचाना भी इसका उद्देश्य है। विश्व में पहली बार अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति जॉन एफ कैनेडी द्वारा 15 मार्च 1962 को अमेरिकी कांग्रेस मेंं दिए गए अपने भाषण में उपभोक्ताओं अधिकारों को अपना मुख्य अंश बनाया, तभी से विश्व उपभोक्ता अधिकार दिवस मनाया जाता है। हर साल इस दिन को मनाने के लिए एक थीम की घोषणा विश्व उपभोक्ता परिषद करती है। इस साल 2021 का थीम “प्लास्टिक प्रदूषण से कैसे निबटे” है। प्लास्टिक हमारे रोजमर्रा की जीवन में किसी ने किसी रूप में प्रयोग में आता है, इसी कारण इसका उत्पादन काफी प्रचलित हो गया है। लेकिन यह चलन हमारे पारिस्थिति की तंत्र को प्रभावित कर रहा है। जिससे नकारात्मक पर्यावरणीय परिणाम सामने आ रहे हैं और अंततः इस स्थानीय और अंतरराष्ट्रीय पर्यावरण प्रदूषण से मानव स्वास्थ्य को गंभीर परिणाम भुगतने पड़ सकते हैं।

सजय श्रीवास्तव जी ने वर्चुअल मीटिंग के ज़रिए बताया कि प्लास्टिक प्रदूषण से निपटने के लिए बच्चों के सिलेबस में शामिल किया जाना चाहिए, जिससे नई मानव पौध को प्लास्टिक के हानिकारक दोष का ज्ञान हो सके तथा जिला स्तर या मंडल स्तर पर कूड़े से प्लास्टिक को अलग करके उसके निस्तारण का कार्य किया जाना चाहिए। कूड़े से प्लास्टिक अलग करने के लिए कर्मचारी की नियुक्ति की जानी चाहिए। जिला चेयरमैन आनन्द विश्वकर्मा ने कहा कि मानव अपने जीवन में जितना कम से कम प्लास्टिक का उपयोग करें उतना ही अच्छा है। एकल प्लास्टिक का प्रयोग जैसे पानी की बोतल, थैला, दूध का पैकेट, प्लास्टिक के पैकेट में पैक खाद्य पदार्थ आदि उसका प्रयोग कम से कम कर देना चाहिए जिससे मृदा, जल, वायु इन तीनों प्रदूषण से बच सके सभी का यह कर्तव्य बनता है अपने भी जागरूप हो और दूसरों को भी प्लास्टिक प्रदूषण के प्रति जागरूक करें।

श्रेय गुप्ता ने कहा उपभोक्ता अधिकारों के हनन को रोकने के लिए हर संभव प्रयास किया जाएगा। उन्होंने बताया कि शासन द्वारा शुद्ध के लिए युद्ध नामक एक प्रोग्राम भी चलाया जा रहा है। जिससे सभी को शुद्ध खरीदने और खाने के लिए जागरूक किया जा रहा है। अभिषेक सिंह ने कहा की जिले में कहीं भी अवैध मिलावट का खेल कहीं दिखाई दे या सुनाई दे तो आप उत्तर प्रदेश उपभोक्ता कल्याण परिषद को जरूर अवगत कराएं। इस अवसर पर गोविंद मौर्या, इमरान अहमद, सुरेश कुमार वर्मा, राशीद, अरविन्द, उत्कर्ष तिवारी, कृष्णा, मनोज यादव आदि लोग उपस्थित थे।

Related posts

ज़िन्दगी को ज़िन्दगी देती ज़िन्दगी को परिभाषित करती शार्ट फ़िल्म ‘लव इन कॉरोंटाइन’

Khula Sach

नरोत्तम शेखसरिया फाउंडेशन ने “प्रोजेक्ट इग्नाइट” की लॉन्‍च की घोषणा की

Khula Sach

अपनी टैगलाइन “लेट्स मेक इंडिया सेफ” को बनाए रखने के लिए जंपिन हाइट्स ने प्रतिष्ठित मान्यता अर्जित की है:”-निहारिका निगम

Khula Sach

Leave a Comment