Khula Sach
ताज़ा खबरमीरजापुरराज्य

Mirzapur विशेष वीएचएनडी सत्र : आज आयोजित होगा विशेष वीएचएनडी व आयरन की गोली का निःशुल्क वितरण

रिपोर्ट : तपेश विश्वकर्मा

मीरजापुर, (उ.प्र.) : स्वास्थ्य विभाग जिले के 9 सामुदायिक स्वास्थय केन्द्र 44 प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों समेत 216 उप स्वास्थ्य केन्द्रों पर प्रत्येक सप्ताह बुधवार व शनिवार को वीएचएनडी का आयोजन करता है जहां बच्चों का टीकाकरण और पोषण सम्बन्धी गतिविधियों का संचालन किया जा रहा है।

मुख्य चिकित्साधिकारी डाक्टर पीडी गुप्ता ने बताया कि राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के तहत अब प्रत्येक माह के पहले बुधवार को विशेष वीएचएनडी का आयोजन किया जायेगा। इस सम्बन्ध में जनपद के सभी प्रभारी चिकित्साधिकारियो व अपर मुख्य चिकित्साधिकारियों को अवगत कराया जा चुका है। शासन स्तर से मिले पत्र में कहा गया है कि विशेष वीएचएनडी के लिए समस्त स्वास्थ्य केन्द्रों व उपस्वास्थ्य केन्द्रों पर मातृ शिशु सुरक्षा कार्ड, सैम मैम मैनजमेंट प्रोटोकाल तथा सैम-मैम चार्ट, रिपोटिंग प्रपत्र तापमान नापने के लिए थर्मामीटर आदि उपलब्ध कराया जा चुका है।

अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डाक्टर नीलेश श्रीवास्तव का कहना है कि सैम मैम बच्चों के बेहतर पोषण के लिए अमोक्सीलिन टेबलेट अथवा सिरप, आयरन फोलिक एसिड सिरप, फोलिक ऐसिड टेबलेट का सभी स्वास्थ्य केन्द्रों व आंगनबाड़ी केन्द्रों पर उपलब्ध कराया गया है। इसके साथ ही वीएचएनडी के दौरान बच्चों की जांच के बाद गंभीर कुपोषित बच्चों को मण्डलीय चिकित्सालय स्थित एनआरसी सेन्टर पर भेजने का कार्य किया जायेगा। बाकी बच्चों के बेहतर चिकित्सकीय व्यवस्था के लिए केन्द्रों पर उपस्थित डाक्टर व तैनात एएनएम दवाओं को उपलब्ध करायेगी और उनके परिवार वालों को इस बात की विस्तारपर्वूक जानकारी देगी कि कौन-कौन सी गोली या पीने वाला दवा बच्चे को दिन में कितनी बार और कितने दिनों तक देना होगा। इसके साथ ही बिना चिकित्सक के सलाह के कोई भी गोली या सिरप देना खतरनाक हो सकता है।

बाल विकास विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी प्रमोद कुमार ने बताया कि इस वीएचएनडी के अवसर पर विभाग ने सभी 2268 आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को यह निर्देशित किया गया है कि केन्द्रों पर कोरोना के नियमों का कठोरता से पालन किया जाये इसके अलावा आने वाले बच्चों को चिकित्सकीय परीक्षण के बाद प्रत्येक को उचित मात्रा में पोषक आहार को उपलब्ध कराया जाय। विभाग ने कुपोषित बच्चों का चयन कर स्वास्थ्य विभाग को सूची सौंप दी है। जिले में तैनात 2043 आशा व 2668 आंगनबाड़ी को कुपोषित बच्चों को केन्द्र पर लाने की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी को दिया है।

Related posts

Mirzapur : स्वामी विवेकानन्द शिक्षा समिति व स्वामी विवेकानन्द जी की जयन्ती समारोह सम्पन्न

Khula Sach

यूनीकैस क्रिप्टो बैंक भारत में खुला

Khula Sach

‘मदर्स प्राइड अकेडमी’ के वार्षिकोत्सव का हुआ भव्य आयोजन

Khula Sach

Leave a Comment