Khula Sach
अन्यकारोबारताज़ा खबर

इनोवेटर ब्रांड की तुलना में 96% कम कीमत पर ग्लेनमार्क ने लॉन्च किया सुटिब (सुनिटीनिब)

  • सुटिब(सुनिटीनिब) गुर्दे के कैंसर के लिए “गोल्ड-स्टैंडर्ड” फर्स्ट-लाइन उपचार विकल्पों में से एक है
  • सुटिब यूएस एफडीए द्वारा स्वीकृत सुनिटीनिब का सामान्य संस्करण है
  • गुर्दे के कैंसर की वृद्धि के जोखिम को 58% तक कम करता है

मुंबई शोध-केंद्रित, वैश्विक एकीकृत फ़ार्मास्युटिकल कंपनी, ग्लेनमार्क फ़ार्मास्युटिकल्स, ने आज भारत में ग्रुर्दे के कैंसर (किडनी के कैंसर) का इलाज करने के लिए सुनिटीनिब ओरल  कैप्सूल का सामान्य संस्करण सुटिब लॉन्च किया। दवा इनोवेटर ब्रांड की एमआरपी की तुलना में लगभग 96% कम एमआरपी पर लॉन्च की गई है, जो 7000 रूपये (50 मिलीग्राम), 3600 रुपये (25 मिलीग्राम) और 1840 रुपये (12.5 मिलीग्राम) प्रति माह है। सुनिटीनिब यूएस फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (यूएस एफ.डी.ए) द्वारा भी अनुमोदित है।

गुर्दे के कैंसर (रीनल सेल कार्सिनोमा) गुर्दे में छोटी नलियों के अस्तर में अनियंत्रित कोशिका वृद्धि की बीमारी है। पिछले एक दशक में, इस बीमारी के प्रतिमान (पैराडाइम) को बदलने के लिए अनुसंधान और दवा विकास में प्रगति शुरू हुई है। सुनिटीनिब एक ओरल मल्टी-किनैस इनहिबिटर (एम.के.आई) है, जो कोशिका के विकास को बढ़ावा देने वाले कई एंजाइमों को अवरुद्ध करके काम करता है। यह गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल स्ट्रोमल ट्यूमर और एडवान्स्ड रीनल सेल कार्सिनोमा के कुछ रोगियों के उपचार के लिए उपयोगी है। यह कुछ प्रकार के पैंक्रियाटिक न्यूरोएंडोक्राइन ट्यूमर वाले रोगियों के लिए भी स्वीकृत है।

ग्लोबोकेन 2020 की रिपोर्ट के अनुसार, भारत में गुर्दे के कैंसर के करीब 40,000 मरीज हैं। एक दशक से अधिक समय से, सुनिटीनिब को तेजी से फैलने वाले (मेटास्टैटिक) रीनल कैंसर के मामलों में देखभाल के “गोल्ड-स्टैंडर्ड” उपचारों में से एक माना जाता है। अनुसंधान से पता चलता है कि अकेले सुनिटीनिब ने रीनल  कैंसर की वृद्धि के जोखिम को 58% तक कम करने में मदद की है।3

लॉन्च के अवसर पर आलोक मलिकग्रुप वाइस प्रेसिडेंट और बिजनेस हेडइंडिया फॉर्मूलेशन ने कहा कि “ऑन्कोलॉजी क्षेत्र पर ग्लेनमार्क विशेष ध्यान देता है। हम मानते हैं कि एडवान्स्ड किडनी कैंसर एक जटिल रोग है और भारत में रोगियों को उपचार के सीमित विकल्प मिलते हैं। ग्लेनमार्क चिकित्सकों और उनके रोगियों को प्रभावी दवाएं सस्ती लागत पर उपलब्ध कराने के लिए प्रतिबद्ध है।”

Related posts

Uttar pardesh : कोरोना-पीड़ित अभियन्ताओं को इलाज के लिए कैशलैस सुविधा दी जाए :UPEA

Khula Sach

Lakhimpur Kheri : इंडोस्टार टीएमटी द्वारा राजमिस्त्री प्रशिक्षण एवं सम्मान समारोह

Khula Sach

नेताओं ने सोशल मीडिया पर दी विजयादशमी की शुभकामनाएँ

Khula Sach

Leave a Comment