Khula Sach
अन्यकारोबारताज़ा खबरदेश-विदेश

कॉलेज एडमिशंस प्लेटफॉर्म ‘लीवरेज एडु’ ने जुटाए 47 करोड़ रुपये

मुंबई : लीवरेज एड-टेक प्राइवेट लिमिटेड, जो प्लेटफॉर्म लीवरेजएडुडॉटकॉम, युनिवैलीडॉटकॉम, आइवी100डॉटकॉम और वर्चुअल फेयर प्लेटफॉर्म युनिकनेक्ट का संचालन करती है, ने अपने सीरीज ए फंडिंग राउंड 47 करोड़ (6.5 मिलियन डॉलर) जुटाने की घोषणा की है। यह राउंड टुमॉरो कैपिटल के नेतृत्व में था जिसने अक्षय चतुर्वेदी द्वारा स्थापित और संचालित व्यवसाय में 26.5 करोड़ का निवेश किया था। मौजूदा निवेशक ब्लूम वेंचर्स और डीएसजी कंज्यूमर पार्टनर्स पहले निवेश के बाद भी कंपनी से जुड़े हुए हैं और उन्होंने इस राउंड में 20.5 करोड़ रुपए जोड़े हैं। इनमें से आधे कुछ क्वार्टर पहले जोड़े थे। शेष आधी पूंजी टुमॉरो कैपिटल के साथ निवेश किए हैं। इसके साथ, कंपनी ने अब 3 राउंड में लगभग 60 करोड़ रुपये जुटा लिए हैं।

स्टूडेंट्स को सही प्लेटफॉर्म और डेस्टिनेशन तलाशने के साथ ही रोजगार को ध्यान में रखते हुए कॉलेज शिक्षा पर फोकस करने में मदद करने के उद्देश्य से संस्थापक अक्षय चतुर्वेदी ने 2017 में लीवरेज एडु की स्थापना की थी। यह प्लेटफॉर्म छात्रों को सही उच्च शिक्षा के विकल्प चुनने में मदद करता है, जिसमें 2500+ पर्नसलाइज्ड मेंटर्स और प्रमुख वैश्विक विश्वविद्यालयों का वन-टच एक्सेस देता है।

लीवरेज एडू के संस्थापक और सीईओ अक्षय चतुर्वेदी ने कहा कि ‘फंडिंग के नवीनतम दौर का उपयोग कंपनी के रणनीतिक विस्तार को नए बाजारों में लाने, अधिक उत्पाद नवीनता लाने और हमारे स्टूडेंट-फर्स्ट अप्रौच को अधिक शिक्षण और स्टूडेंट-फर्स्ट टूल पर केंद्रित करने के लिए किया जाएगा।’

लीवरेज एडू के कारोबार के दो मुख्य भाग हैं। सबसे पहले, कंपनी छात्रों को अपने लिए सही प्रोग्राम, देश चुनाव करने में मदद करती है। फिर उन्हें शिक्षा ऋण, वीजा, विदेशी मुद्रा, आवास विकल्प जैसी वैल्यू एडेड सर्विसेस प्रदान करती है। लीवरेज एडू के व्यवसाय का दूसरा भाग विश्वविद्यालय का है। यह एक सास  सक्षम प्लेटफॉर्म है, जिसे युनिवैलीडॉटकॉम कहा जाता है। यह विश्वविद्यालयों को उनके विविध कार्यक्रमों के लिए बेस्ट-मैच टैलेंट खोजने में मदद करता है। इसके अलावा, यह भारत में 35 शहरों में 500 से अधिक छोटे और मध्यम स्टडी अब्रॉड कंपनियों को भी सक्षम बनाता है, जो उन्हें लीवरेज एडू के स्वामित्व तकनीक और दुनियाभर के अपने 250+ साथी विश्वविद्यालयों तक पहुंच प्रदान करके आवेदन-से-कॉलेज की यात्रा को आसान बनाते हैं।

Related posts

Unnao : सरस्वती मेड़िकल काॅलेज का डीएम ने किया स्थलीय निरीक्षण

Khula Sach

अपराधियों के खिलाफ हो सख्त कार्यवाही : मनोज श्रीवास्तव

Khula Sach

Mirzapur : सिक्योरिटी एजेंसी संचालक द्वारा होटल कोणार्क ग्रैंड को बदनाम करने की साजिश ! 

Khula Sach

Leave a Comment