Khula Sach
ताज़ा खबरदेश-विदेश

Chhatarpur : बिना सूचना समय दिये प्रशासन ने ग्रामीणो से छीने उनके आशियाने

– नियमों की अनदेखी कर नोटिस के नाम पर कर दी गई खानापूर्ति, नोटिस के दूसरे दिन प्रशासन ने की कार्रवाई

– पीडि़त बोले दर्जनों शिकायतों के बाद भी नहीं मिला सही मुआवजा और ढहा दिया मकान, अब खुले में रात गुजारने को मजबूर गंज गांव के रहवासी

रिपोर्ट : निर्णय तिवारी

छतरपुर, (म0प्र0) : बुंदेलखंड में खुशियों की सौगात और जिले की विकास की लाइफ लाइन कही जाने वाले और खजुराहो को अन्य विकसित नगरों से जोडऩे वाले बहुप्रतीक्षित फोर लाइन निर्माण कार्य जोरों पर देखा जा रहा हैं। लेकिन दूसरी ओर अधिकारियों की लापरवाही से रविवार और सोमवार को की गई मकानों के ढहाने की कार्रवाई की सूचना पहले नहीं दी गई और मौके पर पहुंचकर महानों पर मशीनें चलाकर ध्रासाई कर दिया। इस दौरान रहवासिनें ने अधिकारियों से सामान बाहर निकालने की भीख मांगी लेकिन अधिकारियों ने एक नहीं सुनी और कई घरों में रखा सामान और सीमा से अधिक जाकर मकानों को ढहाया गया। वहीं लोगों को कहना है कि उन्होंने उचित मुआबजा नहीं मिलने की शिकायतें की गई हैं। लेकिन इसको दरकिनारे करते हुए कार्रवाई की गई। जिससे वह अब बेघर हो गए हैं और मैदान में रातें बितानी पड़ रहीं है।

जानकारी के अनुसार इस धीमी गति से चलने वाले नेशनल हाईवे प्रोजेक्ट को गति देने के उद्देश्य से कलेक्टर शीलेंद्र सिंह के द्वारा जानकारी लेकर नेशनल हाईवे को लगभग 31 जनवरी तक पूरा किए जाने को लेकर निर्देशित किया गया था लेकिन इसके बावजूद प्रशासनिक अधिकारियों की लापरवाही और लेटलतीफी के कारण अभी निर्माण कार्य में बाधाएं उत्पन्न हो रही हैं। प्रशासन का उचित सहयोग ना होने के कारण इस निर्माण कार्य में ढीलापन देखा जा रहा था जिसे अब प्रशासन के द्वारा ठोस कार्रवाई करते हुए कार्य को गति प्रदान की जा रही है। हाईवे निर्माण से जहां एक और बुंदेलखंड और खजुराहो के आवागमन को सुलभ बनाया जाएगा तो वहीं रोजगार के नए अवसर भी उपलब्ध होने का अनुमान लगाया जा रहा है देश के बड़े राज्यों से जोडऩे के लिए इस नेशनल हाईवे निर्माण का कार्य किया जा रहा है।

नेशनल हाईवे अथॉरिटी के द्वारा मनमर्जी करते हुए हाईवे के किनारे बने मकानों.जमीनों से बेदखल करने की कई खबरें दिखाई जा चुकी हैं, ठीक इसी प्रकार की कार्रवाई रविवार और सोमवार को खजुराहो झांसी नेशनल हाईवे फोर लाइन निर्माण में ग्राम गंज में देखने को मिली। जहां हाईवे के किनारे बने मकानों को ध्वस्त करने का कार्य जोर शोर से अधिकारियों व अथॉरिटी के द्वारा किया जा रहा है, ताकि हाईवे निर्माण का कार्य जल्द से जल्द पूरा किया जा सके। लेकिन अधिकारियों और अथॉरिटी के लोगों के द्वारा जबरन लोगों को उनके घरों से बेदखल किया जा रहा है, लोग इनके सामने गिड़गिड़ाते और मजबूर देखे जा सकते हैं फिर भी अधिकारियों केका दिल नहीं पसीज रहा है। हालात थे कि लोगों को अपनेघर से उनके सामान को सुरक्षित बाहर निकालने तक का समय नहीं दिया गया। लोगों ने उन्होंने अथॉरिटी पर आरोप लगाते हुए बताया कि अथॉरिटी के द्वारा एक निश्चित रेखा के बाद भी निर्माण को ध्वस्त किया गया है, इस प्रकार के नुकसान से उन्हें ना तो मुआवजा मिलने की उम्मीद है और ना ही किसी प्रकार का लाभ ही हो पाएगा प्रशासन को चाहिए कि इस प्रकार की कार्रवाई में लोगों को समय दिया जाए, ताकि वह अपने सामान व परिवार के साथ सुरक्षित किसी अन्य स्थान पर पहुंच सकें।

 

Related posts

कठोरता से तरलता का सन्देश देता है गंगा दशहरा का पर्व

Khula Sach

Mirzapur : क्षेत्राधिकारी लालगंज द्वारा चौकी प्रभारी ड्रमण्डगंज व पीएसी बल के साथ की गई सघन कांबिंग

Khula Sach

Mirzapur : राष्ट्रपति सपरिवार मां विन्ध्वासिनी देवी का किया दर्शन पूजन

Khula Sach

Leave a Comment