Khula Sach
अपराधताज़ा खबरमीरजापुर

Mirzapur : गाँवों व गलियों बिक रही अवैध शराब, आखिर किसके संरक्षण में बिक रही है अवैध देसी शराब

रिपोर्ट : संस्कार सिंह

मीरजापुर, (उ0प्र0) : मड़िहान थाना क्षेत्र के राजगढ़ पुलिस चौकी अंतर्गत गाँव-गाँव और गली-गली में बिक रही अवैध कच्ची शराब समाज में कानून व्यवस्था पर प्रश्न चिन्ह्न लगा रही है। गाँव-गाँव व गली-गली में खुलेआम हो रही अवैध शराब की बिक्री से जहाँ गाँवों का माहौल खराब हो रहा है, वहीं युवा पीढ़ी भी नशे की लत की आदी होती जा रही है। जिससे दर्जनों ऐसे परिवार है, जो उजड़ने की कगार पर हैं। ऐसा भी नहीं है कि अवैध शराब के कारोबार की जानकारी जिले के आवकारी विभाग और पुलिस प्रशासन को न हो, किन्तु जानकारी के बाबजूद भी अवैध शराब की बिक्री पर लगाम न लगने से आवकारी और पुलिस विभाग की कार्य प्रणाली सवालों के घेरे में खड़ी होती दिखाई दे रही है। प्रश्न उठता है कि आखिर किसके संरक्षण में अवैध देसी शराब बिक रही है।

मड़िहान थाना क्षेत्र के राजगढ़ पुलिस चौकी अंतर्गत दर्जनों ऐसे गाँव और मजरे है, जहाँ अवैध शराब का काला कारोबार बे-रोकटोक जारी है। क्षेत्र के कई गाँवों की स्थिति यह है कि गाँव वालों को पानी तलाश में भले ही मीलों भटकना पड़ता हो, पर मदिरा प्रेमियों में गाँव में बिना मशक्कत किये ही शराब उपलब्ध हो जा रही है। अवैध रूप से गाँव-गाँव में संचालित हो रही अवैध शराब की दुकानों ने गाँवों का माहौल दूषित कर दिया है। क्षेत्र में शराब के कारण दिनों-दिन अपराधों में वृद्धि हो रही है। साथ ही आसानी से शराब उपलब्ध हो जाने से भोले-भाले ग्रामीण व युवा वर्ग शराब की लत में जकड़ता जा रहा है। सूत्रों की मानें तो ऐसे बहुत कम गाँव होंगे, जहाँ अवैध रूप से शराब की बिक्री नहीं हो रही हो। ऐसा भी नहीं कि आवकारी महकमा व स्थानीय पुलिस इस अवैध कारोबार से अंजान हो, बल्कि जानकारी होते हुए भी विभाग अवैध शराब के कारोबार को अनदेखा कर रहा है। गाँव-गाँव तक शराब पहुँचाने के लिये ठेकेदार द्वारा स्थानीय जिम्मेदारों से साँठ-गाँठ कर जीपों व बाईक से परिवहन किया जा रहा है। उसके बाबजूद भी प्रशासन अवैध शराब का व्यापार करने वालों से दूर है। इसी वजह से शराब कारोबारियों के हौंसले बुलंद है और धड़ल्ले से अवैध शराब का कारोबार संचालित हो रहा है।

अवैध शराब की बिक्री को रोकने के मामले में सरकारी सिस्टम फेल साबित हो रहा है। अगर हम बात करे राजगढ़ पुलिस चौकी क्षेत्र के कंजड़ बस्ती, भीटी, भवानीपुर, दरबान, चौखड़ा, रामपुर 38,गढ़वा, सेमरी, इंदिरानगर तो यहाँ शराब कारोबारी नियम और कानून को ताँक पर रखकर व्यापार को संचालित कर रहे है। ऐसा ही हाल तालबेहट क्षेत्र के कई गाँवों में किरानों की दुकानों पर भी अवैध शराब आसानी से उपलब्ध हो जायेगी। यही नहीं क्षेत्र के कंजड़ बस्ती में खुले आम अवैध कच्ची शराब बनाने के लिये भट्टियाँ धधक रहीं हैं और क्षेत्र के कई स्थानों पर लोग खुलेआम शराब बेच रहे है, किन्तु उसके बाबजूद भी आवकारी विभाग और पुलिस द्वारा कोई ठोस कदम नहीं उठाये जा रहे है। हां कभी-कभी आबकारी व पुलिस विभाग की टीम औपचारिकताएं पूरी करने के लिए छापेमारी कर देती है । क्षेत्रीय ग्रामीणों ने जिला प्रशासन से गाँव में बिक रही अवैध शराब पर पाबंदी लगाने की माँग उठाई है।

शराबियो ने सीएचसी में किया हंगामा, मौके पर पहुची पुलिस

सीएचसी राजगढ़ में शुक्रवार की रात शराब के नशे में धुत कुछ लोग ट्रक लेकर अस्पताल परिसर में घुस गए और इमरजेंसी ड्यूटी पर तैनात डाक्टर व कर्मचारियों के साथ अभद्रता व गाली गलौज करने लगे।जिससे परेशान होकर ड्यूटी पर तैनात डॉक्टर ने पिआरबी 112 को सूचना दिया।मौके पर पहुँची पुलिस ने शराबियो को सीएचसी राजगढ़ परिसर से बाहर खदेड़ा।दे

देखा जाए तो इन दिनों क्षेत्र में शराबियो की संख्या काफी बढ़ गयी हैं।जिससे क्षेत्र के संभ्रांत लोगो का बाहर निकलना मुश्किल होता जा रहा है।शाम होते ही स्थानीय बाजारों के चौराहों सड़को पर शराब के नशे में धुत लोगो को देखा जा रहा है।सीएचसी राजगढ़ के समीप कंजड़ बस्ती होने के कारण अधिक से अधिक शराबी अस्पताल के पास से गुजरते हैं और अस्पताल कार्यरत चिकित्सको व कर्मचारियों को भद्दी भद्दी गालिया देते रहते हैं।सीएचसी प्रभारी डॉ डी के सिंह ने बताया कि इस समस्या से जोर जूझना पड़ता हैं।

Related posts

भोजन पद्धति में लगातार ‘उठान’ स्वास्थ्य और संस्कृति के लिए ‘नुकसानदेह’

Khula Sach

Bhadohi : औराई व भदोही में 11856 हजार लोगों को खिलाई फाइलेरिया की गोली

Khula Sach

कविता : ” जन्मदिन “

Khula Sach

Leave a Comment