Khula Sach
ताज़ा खबरमनोरंजन

अपनी सीट बेल्ट बांध लो क्योंकि फिल्म ‘खाली पीली’ के वर्ल्ड टेलीविजन प्रीमियर के साथ ज़ी सिनेमा आपको करा रहा है एक लफड़े की सवारी

ज़ी सिनेमा पर इस हफ्ते फिल्मखाली पीलीके वर्ल्ड टेलीविजन प्रीमियर के साथ एक लफड़े की सवारी करने के लिए तैयार हो जाइए। यह फिल्म एक टैक्सी राइड की विचित्र कहानी है, जिसमें बहुतसे स्टॉप्स के साथसाथ पागलपंती से भरा एक्शन, तेजतर्रार नोकझोंक, नॉनस्टॉप ड्रामेबाज़ी और अंतिम स्टॉप के रूप में मनोरंजन की फुल गारंटी है। मकबूल खान के निर्देशन में बनी फिल्मखाली पीलीमें बीटाउन के पसंदीदा नए कलाकारोंईशान खट्टर और अनन्या पांडे की जोड़ी है। तो इस वीकेंड 24 जनवरी को रात 8 बजे संपूर्ण पारिवारिक मनोरंजक फिल्मखाली पीलीके वल्र्ड टेलीविजन प्रीमियर के साथ ज़ी सिनेमा मनोरंजन का वॉल्यूम बढ़ाने जा रहा है।

इस फिल्म के बारे में बताते हुए अनन्या पांडे ने कहा, ‘‘खाली पीली ने मुझे एक ऐसा किरदार दिया, जो मुझसे व्यक्तिगत तौर पर जुड़ता है। पूजा एक बेपरवाह, फनी और आत्मनिर्भर लड़की है, जो खुद अपना ख्याल रखती है और अपने हिसाब से दुनिया को देखती है। मैं इसमें खुद को देखती हूं। यह किरदार निभाना मकबूल सर और सभी कलाकारों और क्रू के बिना संभव नहीं हुआ होता। ईशान में गज़ब की एनर्जी है, जिससे इसकी शूटिंग वाकई मस्ती भरी हो गई। वो पूजा के लिए एक परफेक्ट ब्लैकी हैं। इस सवारी के लिए उनसे बेहतर सहयात्री और कौन हो सकता था! इस फिल्म से मुझे इतना गजब अनुभव हुआ कि मैं इसे अपनी सारी जिंदगी याद रखूंगी। मैं ज़ी सिनेमा परखाली पीलीके  टेलीविजन प्रीमियर का इंतजार कर रही हूं ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग इस क्रेज़ी राइड का मजा ले सकें।

इस फिल्म के बारे में बात करते हुए ईशान खट्टर ने कहा खाली पीली एक खुशनुमा अनुभव है। मुझे ब्लैकी जैसा किरदार निभाते हुए गजब का रोमांच महसूस हुआ। मकबूल भाई और अनन्या का साथ ऐसा थाए जो मेरे दिल के करीब है। मुझे खुशी है कि अब राष्ट्रीय टीवी पर इस फिल्म का प्रीमियर हो रहा है और मैं उम्मीद करता हूं कि देश भर के दर्शकों को इस सवारी का मजा आएगा।

फिल्मखाली पीलीवैसे तो एक लड़के और लड़की के मिलने और उसके बाद होने वाले बवाल की क्लासिक कहानी है, लेकिन इस बार लड़कालड़की की ये कहानी बड़ी ताजगी भरी और नॉनक्लासिक है। जब एक टैक्सी में मुंहफट और मुंहज़ोर ब्लैकी और पूजा का आमनासामना होता है, तब उन दोनों की जिंदगी हमेशा के लिए बदल जाती है। दोनों बचपन के अच्छे दोस्त होते हैं और फिर उनकी इस दोस्ती को कुछ मायने मिल जाते हैं, जब पूजा के सफर के दौरान उन्हें गुंडों से लड़ना पड़ता है और ब्लैकी के सफर में उनका सामना पुलिसवालों से होता है।

Related posts

Mirzapur : हत्या के मामले में अभियुक्त को आजीवन कारावास की सजा

Khula Sach

Mumbai : सादगी से सम्पन्न हुआ ‘यदु यादव कोश पत्रिका’ का 16 वाँ विमोचन व सम्मान समारोह

Khula Sach

प्रोडिजी फाइनेंस ने $750 मिलियन की फंडिंग हासिल की

Khula Sach

Leave a Comment