Khula Sach
कारोबारताज़ा खबरदेश-विदेशराज्य

एमआईटी-डब्ल्यूपीयूः उद्योग जगत के अनुकूल नए दौर के प्रोग्रामों के लिए आवेदन आमंत्रित किए

मुंबई : एमआईटी-डब्ल्यूपीयू, पुणे में स्थित भारत का एक उच्च शिक्षा संस्थान है, जो अपनी शुरूआत से ही छात्रों को लर्निंग का आधुनिक अनुभव प्रदान करता रहा है। उच्च शिक्षा क्षेत्र में चार दशकों की धरोहर के साथ, यह युनिवर्सिटी देश की शिक्षा प्रणाली में ज़रूरी बदलाव लाते हुए नई पीढ़ी के विचारकों को विकसित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है। एमआईटी-डब्ल्यूपीयू महत्वाकांक्षी एवं गतिशील भारतीय युवाओं की सम्पूर्ण क्षमता का सदुपयोग कर इसे सही अवसर प्रदान करती है।

एमआईटी-डब्ल्यूपीयू ने अकादमिक वर्ष 2023-24 के लिए प्रवेश आमंत्रित किए हैं। छात्र इस युनिवर्सिटी के 12 स्कूलों में उपलब्ध कराए जाने वाले 150 से अधिक अंडरग्रेजुएट, पोस्टग्रेजुएट, डिप्लोमा एवं पीएचडी प्रोग्रामों के लिए आवेदन कर सकते हैं। ये प्रोग्राम इंजीनियरिंग एण्ड टेक्नोलॉजी, साइंस, मैनेजमेन्ट, पब्लिक पॉलिसी, मीडिया, फार्मेसी, कॉमर्स, डिज़ाइन, पीस स्टडीज़, लॉ, लिबरल आर्ट्स आदि में उपलब्ध कराए जाते हैं।

अपने प्रोग्रामों की व्यापक रेंज के माध्यम से एमआईटी-डब्ल्यूपीयू उद्योग एवं अकादमिक जगत के बीच के अंतर को दूर कर भावी लीडर्स के निर्माण के लिए प्रयासरत है। इसके अलावा युनिवर्सिटी के विशेषज्ञ फैकल्टी सदस्य छात्रों को उचित मार्गदर्शन एवं संरक्षण प्रदान कर उनके समग्र विकास को सुनिश्चित करते हैं। वे छात्र जो युनिवर्सिटी में पढ़ाई करना चाहते हैं, वे https://bit.ly/3EmlvoU पर विज़िट कर आवेदन प्रक्रिया शुरू कर सकते हैं। अंडरग्रेजुएट एवं पोस्टग्रेजुएट प्रोग्रामों के लिए आवेदन करने के लिए छात्र निर्धारित कोर्स के लिए एमआईटी-डब्ल्यूपीयू सीईटी दे सकते हैं।

राहुल विश्वनाथ करड, कार्यकारी अध्यक्ष, एमआईटी-डब्ल्यूपीयू ने कहा, ‘‘हमें खुशी है कि हम अकादमिक वर्ष 23-24 के लिए अंडरग्रेजुएट, ग्रेजुएट एवं प्रोफेशनल प्रोग्रामों हेतु आवेदन स्वीकार कर रहे हैं। एमआईटी-डब्ल्यूपीयू में हम छात्रों को विश्वस्तरीय शिक्षा प्रदान करने में भरोसा रखते हैं ताकि वे आगे चलकर अपने करियर और अपने समुदाय में सफलता हासिल कर सकें।

एमआईटी-डब्लयूपीयू को शिक्षा के क्षेत्र में बहु-आयामी दृष्टिकोण अपनाने के लिए जाना जाता है, संस्थान अनुसंधान के आधुनिक तरीकों एवं व्यवहारिक लर्निंग के माध्यम से छात्रों के अकादमिक अनुभव में तालमेल बनाता है- यही कारण है कि आज यह संस्थान देश की शीर्ष पायदान की निजी युनिवर्सिटियों में शामिल हो चुका है। छात्रों को सर्वश्रेष्ठ शिक्षा प्रदान करने के प्रयास में युनिवर्सिटी ने कई एमओयू साईन किए हैं और उद्योग जगत के दिग्गजों के साथ साझेदारियां भी की हैं। युनिवर्सिटी के साझेदार आईटी, इंजीनियरिंग एवं मैनुफैक्चरिंग, ऑटोमोटिव, शिक्षा, डिज़ाइन, एचआर, कन्सलटेन्सी एवं एंटरेप्रेन्युरशिप आदि सभी क्षेत्रों में हैं। इन सभी साझेदारियों के चलते एमआईटी-डब्ल्यूपीयू के छात्रों को लर्निंग का बेजोड़ व्यवहारिक अनुभव प्राप्त होता है।

युनिवर्सिटी ने उद्योग जगत के अग्रणी प्लेयर्स के साथ साझेदारियां एवं एमओयू किए हैं। इनमें शामिल हैं- टाटा कन्सलटेन्सी सर्विसेज़, टेक महिन्द्रा, मर्सीडीज़ बेंज़ इंडिया, टाटा टेक्नोलॉजीज़, थर्मेक्स लिमिटेड, आईबीएम इंडिया, इन्फोसिस, स्कोडा ऑटो, वॉक्सवेगन इंडिया, एमक्योर फार्मास्युटिकल्स और केपीआईटी टेक्नोलॉजीज़ आदि। उद्योग जगत के नेटवर्क का लाभ उठाते हुए संस्थान छात्रों को उद्योग जगत के लिए तैयार करता है। साथ ही एमआईटी-डब्ल्यूपीयू के छात्रों को उद्योग जगत के दिग्गजों के साथ इंटर्नशिप एवं नौकरियों के अवसर भी उपलब्ध कराए जाते हैं, ताकि वे पेशेवर दुनिया में सफलता की नई उंचाईयों तक पहुंच सकें।

इसके अलावा आधुनिक विश्वस्तरीय विचारों एवं इनोवेशन्स को बढ़ावा देने के लिए युनिवर्सिटी ने कई अन्तर्राष्ट्रीय युनिवर्सिटियों जैसे डैकिन युनिवर्सिटी, ईस्टर्न मिशिगन युनिवर्सिटी, जॉन हॉपकिन्स युनिवर्सिटी, युनिवर्सिटी ऑफ विस्कॉन्सिन, मैक्वेरी युनिवर्सिटी, वर्जिनियां कॉमनवेल्थ युनिवर्सिटी, नॉटिंघम ट्रेन्ट युनिवर्सिटी के साथ भी समझौता ज्ञापन किए हैं।

एमआईटी-डब्लयूपीयू में सेंटर ऑफ इंडस्ट्री एकेडमिया पार्टनरशिप्स के माध्यम से छात्रों को प्लेसमेन्ट, उच्च शिक्षा, इंटर्नशिप, एंटरेप्रेन्युरशिप तथा करियर में मार्गदर्शन सहित सभी सुविधाएं उपलब्ध कराई जाती हैं। एमआईटी-डब्ल्यूपीयू के नियमित रिक्रुटर्स में अमेझॉन,रिलायन्स, वॉक्सवैगन, एमडोक्स, बार्कलेज़, टाटा कन्सलटेन्सी सर्विसेज़, एसेन्ट्योरे, माइक्रोसॉफ्ट, मर्सीडीज़-बेन्ज़ और आईबीएम आदि शामिल हैं। 65 एकड़ में फैले एमआईटी-डब्ल्यूपीयू में सभी आधुनिक सुविधाएं हैं। हर साल 18,000 से अधिक छात्र संस्थान के 12 स्कूलों एवं 30 से अधिक अकादमिक विभागों में अपना नामांकन करते हैं।

Related posts

जानवर और इंसान के संघर्ष की कहानी को बयां करती फ़िल्म ‘शेरनी’

Khula Sach

Mirzapur : आयुष्मान भारत योजना का लाभ पहुंचाने के लिए अभियान शुरू

Khula Sach

Chhatarpur : गीता चंद्रन के भरतनाट्यम से हुआ खजुराहो डांस फेस्टिवल का आगाज 

Khula Sach

Leave a Comment