Khula Sach
कारोबारताज़ा खबरदेश-विदेशमनोरंजन

कैंसर मरीजों के लिए ‘फेविकोल केयरिंग विद स्टाइल’ का आयोजन किया

भारत के मशहूर फैशन डिजाइनर अबू जानी और संदीप खोसला ने फेविकोल केयरिंग विद स्टाइल के 15वें संस्करण का आयोजन सितारों से भरी महफिल में फेविकोल और कैंसर पेशेंट एड एसोसिएशन के साथ मिलकर किया

मुंबई : फेविकोल ने जाने-माने फैशन डिजाइनर अबु जानी और संदीप खोसला के साथ फेविकोल केयरिंग विद स्टाइल के 15 वें संस्करण का आयोजन किया। देश कि इस मशहूर फंड उगाहने वाले कार्यक्रम का आयोजन महामारी की वजह से तीन वर्ष बाद संभव हो सका। पिडीलाइट इंडस्ट्री और कैंसर पेशेंट एड्स एसोसिएशन (सीपीएए) के तत्वाधान में आयोजित होने वाले इस वार्षिक फैशन शो का आयोजन शानदार जियो वर्ल्ड गार्डन में किया गया। इस फैशन और मनोरंजन वाले शो का उद्देश्य कमजोर वर्ग के कैंसर के मरीजों को बीमारी में संपूर्ण रूप से मदद करने के लिए होता है, जिसमें उनको जांच, मेडिकल सहायता, काउंसलिंग, जागरूकता और पुनर्वसन की सहायता दी जाती है। देश के मशहूर फैशन डिजाइनरों अबु जानी और संदीप खोसला ने बहुत ही खूबसूरती के साथ अपने सिगनेचर लेवल असल (एएसएएल) और मर्द (एमएआरडी) को प्रस्तुत किया। इस शो का थीम # जुड़ेंगे, लड़ेंगे, जीतेंगे था जिसका मतलब एकजुट होना, संघर्ष की भावना और जीतने की शक्ति होता है।

मशहूर डिजाइनर अबू जानी और संदीप खोसला सीपीएए और पिडीलाइट के साथ मिलकर अपने संपूर्ण कलेक्शन को फंड उगाहने के लिए दिखाते हैं जिससे सीपीएए के सहयोग से चल रहे गरीब कैंसर मरीजों को मदद मिलती है। दोनों डिजाइनरों ने अपने मशहूर लेबल, असल और मर्द का कलेक्शन प्रस्तुत किया जो हर सीजन और हर मूड के लिए उपयुक्त हैं। अपने अनूठे उत्साह और रचनात्मक दृष्टि से अबु – संदीप भारत की लंबी कलात्मक विरासत का सम्मान करते हुए स्टाइल के नए-नए पैमाने बना रहे हैं। कार्यक्रम के दौरान उन्होंने असल नाम के दुल्हन के लिबास का प्रदर्शन किया जो बिल्कुल ही नया और हर समय के लिए आकर्षण बनाए रखने वाला है।

फेविकोल केयरिंग विद स्टाइल के इस 15वें संस्करण में मासूम मिनावाला, मृणाल ठाकुर और सिद्धांत चतुर्वेदी जैसे सेलिब्रेटी कलाकार शामिल हुए जिन्होंने अपना सहयोग देने के लिए असल और मर्द के परिधानों की खरीददारी की। इस रंगारंग कार्यक्रम में रक्संदा खान और लिंसिया रोजेरियो ने शो के दौरान अपना शानदार परफार्मेंस दिया। कार्यक्रम में सहयोग देने के लिए मामे खान और वीअनबिटेबल्स ने भी अपने हुनर का जौहर दिखाया। इस अवसर पर इंडस्ट्री के कई दिग्गज और व्यवसायी भी उपस्थित थे। इस उद्देश्य भरे ग्लेमर के द्वारा की गई पहल से जो धन एकत्र होगा उससे ल्युकेमिया (ब्लड कैंसर) से जूझ रहे बच्चों का इलाज किया जाएगा। इससे पहल सीपीएए इन फंडों से 100 से ज्यादा बच्चों की मदद कर चुका है जिनमें से लगभग 78 बच्चे पूर्ण स्वस्थ हैं और उनकी देखभाल की जा रही है।

अबु जानी और संदीप खोसला ने कहा, “हमारा सीपीएए के साथ लंबा और एक विशेष तरह का संबंध रहा है। लगभग तीन सालों के बाद एक बार सबके साथ काम करना काफी अच्छा लग रहा है। ये लोग कैंसर से पीड़ित जिन परिवारों की सहायता करने और उपचार करने में लगे हैं वह पूरी तरह से एक प्यार भरी मेहनत और यह उनके इस वर्ग के लिए समर्पण का संकेत है। हमें खुशी है कि इस अवसर पर हमने अपने लेबल, असल और मर्द का प्रदर्शन किया। एक ऐसा फैशन जो सीधे हमारे दिलों से निकलता है। जो लोग हमसे जुड़े और हमारा सहयोग किया हम उनको सच्चे दिल से धन्यवाद देते हैं। कैंसर का इलाज संभव है और उसको हम सबको मिलकर हराना है।”

सीपीएए के संस्थापक चेयरमैन श्री वाई.के. सप्रू ने कहा, ”कैंसर भारत में तेजी से बढ़ती हुई बिमारियों में से एक है और इसके मरीजों की संख्या दिनोंदिन हर साल बढ़ती ही जा रही है। इसके इलाज का खर्च काफी महंगा है। सीपीएए में हमारा मानना है कि सभी मरीज चाहे उनके पास पैसे हों या न हों इस बीमारी से लड़ने के लिए वंचित न रह जाएं और जो भी अच्छे से अच्छा इलाज संभव है वह उन्हें प्राप्त हो सके। फिलहाल, जो मरीज कम संसाधन वाले हैं और गरीबी से जूझ रहे हैं, जो इस बीमारी का इलाज बहुत मुश्किल से कर पाते हैं उसको देखते हुए सीपीएए उनकी मदद करने की कोशिश करता है। हमने सैकड़ों मरीजों का इलाज और उनकी देखभाल की है और उनके जीवन पर सकारात्मक असर छोड़ा है। #केयरिंग विद स्टाइल शो के माध्यम से पिछले 15 वर्षों से हमारी कोशिश फंड उगाहने और अपने कार्यों के विषय जानकारी देने की रही है।”

सीपीएए ने अपने स्थापना वर्ष 1969 से ही लगभग 10 लाख कैंसर मरीजों की मदद की है। यह एनजीओ मेडिकल फ्रंट पर कैंसर के उपचार से परे जाकर लोगों की मदद करती है जो इस बीमारी के कारण उन पर आर्थिक, सामाजिक और मनोवैज्ञानिक असर डालती है। इन्होंने कैंसर के व्यापक उपचार को लेकर टोटल मैनेजमेंट आफ कैंसर की बात कही है। अपने पांच दशकों के कैंसर मैनेजमेंट के अनुभवों के बाद अब सीपीएए भारत भर में दूसरे हेल्थकेयर संगठनों को भी सहयोग दे रही है।

पिडीलाइट के प्रवक्ता ने इस अवसर पर बोलते हुए कहा, “पिडीलाइट सीपीएए के साथ पिछले 15 वर्षों से कैंसर के उपचार को लेकर और जागरूकता फैलाने का काम कर रही है। हमने 15 वर्ष पहले साथ मिलकर इस शो के माध्यम से जागरूकता फैलाने और सीपीएए को फंड उगाहने में सहयोग देने की शुरूआत की थी। यह पहल पिडीलाइट की प्रतिबद्धता ब्लड कैंसर से जूझ रहे बच्चों को सहयोग देने का एक हिस्सा है। इस शो का सहयोग क्लब महिंद्रा और इंटरनेशनल जेमोलाजिकल इंस्टीट्यूट ने भी किया है। इस आमंत्रण के द्वारा कुल 5000 प्रतिष्ठित मेहमान और सेलिब्रिटी एकत्र हुए थे।” आईसीए पिडीलाइट ने उन तीन टुकड़ों को भी दिखाया जो तीन वास्तुविदों द्वारा सीपीएए को दी गईं जिसमें श्री संजय पूरी भी शामिल थे।

Related posts

Mirzapur : 14 मार्च को राष्ट्रपति के आगमन को लेकर सेना ने हेलीकॉप्टर से किया लाइव टेस्टिंग

Khula Sach

Mumbai : कोरोना गाइड लाइन के अनुसार रूद्र सेवा प्रतिष्ठान द्वारा मनाया गया माघी गणेश उत्सव

Khula Sach

साड़ी दिवस : महिलाओं का खास परिधान है साड़ी

Khula Sach

Leave a Comment