Khula Sach
कारोबार ताज़ा खबर मनोरंजन

“आइकन्स ऑफ भारत”: एनडीटीवी की नई सीरीज “आइकन्स ऑफ भारत” में देखिए साधारण भारतीयों की सफलता की अनसुनी कहानियां

  • IndianMoney.com के अंग, फ्रीडम ऐप ने इस शो को लॉन्च करने के लिये एनडीटीवी के साथ साझेदारी की
  • इस शो में देश भर के सूक्ष्‍म-उद्यमियों की सफलता की कहानियां दिखाई जाएंगी
  • देखिए यह शो एनडीटीवी इंडिया पर, 5 जून से फ्रीडम ऐप पर अभी रजिस्टर करें

मुंबई : फ्रीडम ऐप (IndianMoney.com का एक भाग) ने एनडीटीवी नेटवर्क के साथ मिलकर अपने तरह का एक अनूठा शो ‘आइकन्स ऑफ भारत’ लॉन्च किया है। इसमें भारतीय किसानों, सूक्ष्‍म-आन्त्रप्रेन्योर और गृहणियों की सफलता की अनसुनी कहानियां दिखाई जाएंगी। भले ही इन लोगों का जीवन साधारण नजर आए, लेकिन वास्तविकता में उन्होंने एक असाधारण जिंदगी जी है। वे अपने कौशल को लाभदायक खेती और कारोबारी उपक्रमों में बदल रहे हैं।

आइकन्स ऑफ भारत एक टेलीविजन सीरीज है, जिसमें उन लोगों की वास्तविक कहानियां दर्शायी गई हैं जोकि एक बेहतर भारत बनाने के लिये प्रतिबद्ध हैं। हम उन उद्यमियों और किसानों का सम्मान करते हैं, जिन्होंने सारी कठिनाइयों से लड़कर, छोटे उद्योगों, अपने खेतों या फिर अपने घरों से अपनी आजीविका विकसित कर वित्तीय सफलता हासिल की।

एनडीटीवी इंडिया पर 14 एपिसोड वाली इस सीरीज का प्रसारण 5 जून, 2022; रविवार रात 9:30 से 10:30 बजे तक किया जाएगा, जिसका रिपीट एपिसोड आने वाले शनिवार को रात 9:30 प्रसारित होगा।

हम भारत का 75वां स्वतंत्रता दिवस मना रहे हैं ऐसे में एनडीटीवी इंडिया चाहता है कि आइकन्स ऑफ भारत एक ऐसे प्लेटफॉर्म के रूप में अपनी सेवाए दे, जोकि सपने देखने का साहस करने वाले लोगों की असाधारण हिम्‍मत और प्रेरणा का जश्‍न मना सके।
‘आइकन्स ऑफ भारत’, अपने-अपने क्षेत्रों में सफल हुए लोगों की सफलता की कहानियों को पेश करके लाखों भारतीयों को प्रेरित करना चाहता है। हमारे आइकन विभिन्न क्षेत्रों से आते हैं – कृषि, घरेलू बैंकिंग, कैंडल मेकिंग, चॉकलेट मेकिंग, रियल एस्टेट एजेंट और कई अन्य। इस शो का उद्देश्य भारतीयों को यह बताना है कि किसी कौशल को हासिल करने के लिये बहुत अधिक योग्यता या बड़ी डिग्री की आवश्यकता नहीं होती, बस सीखने और किसी भी पूर्वाग्रह से मुक्त होने का एक बड़ा सपना होता है। सीएस सुधीर द्वारा शुरू किए गए फ्रीडम ऐप जैसे प्लेटफॉर्म के माध्यम से मनपसंद कौशल को हासिल करना आसान हो गया है और अब बस व्यापार खड़ा करके उनकी जिंदगी को बदलने की प्रतिबद्धता की जरूरत है।

सीएस सुधीर, फाउंडर एवं सीईओ, IndianMoney.com का कहना है, “भारत वैश्विक सुपरपावर बनने की अपनी राह पर चल रहा है और यह हरेक उद्यमी और हरेक भारतीय के अर्थव्यवस्था के विकास में योगदान देने की दिशा में बढ़ाए गए कदम की वजह से संभव हो पाया है। हालांकि, इसे अक्सर नजरअंदाज कर दिया जाता है। इस तरह ‘आइकन्स ऑफ भारत’ के पीछे का विचार सामने आया…जैसा कि हमारा मानना है कि ये ऐसे लोग हैं जिनका सम्मान किया जाना चाहिये। उनमें मौजूदा और आने वाली पीढ़ी को प्रभावित करने की ताकत है।”

डॉ.प्रणॉय रॉय, सह-संस्थापक, एनडीटीवी का कहना है, “एनडीटीवी ‘आइकन्स ऑफ भारत’ के साथ जुड़कर बहुत खुश है- जोकि भारत में सफल कहानियों पर ध्‍यान केंद्रित करेगा। इंडियन मनी के फ्रीडम प्लेटफॉर्म के साथ काम करते हुए, हमें पूरा विश्वास है कि यह शो लाखों भारतीयों को प्रेरित करेगा।”
कहानी-आधारित अनोखे फॉर्मेट के जरिये, यह कार्यक्रम उन लोगों को सम्‍मानित करेगा, जिन्होंने अलग तरीकों से अपनी आजीविका तैयार की है, साथ ही आर्थिक आजादी हासिल कर रहे हैं और दूसरों को नौकरियां देने वाले बन रहे हैं। इन आइकन्स ऑफ भारत ने स्थानीय जरूरतों को पूरा करने के लिये अपना व्यापार शुरू किया है या ये ऐसे किसान हैं जिन्होंने अपने खेती के तरीकों को बेहतर बनाया है। इस शो का लक्ष्य देशभर के दर्शकोंका उनका कौशल निखारने के लिए प्रेरित करना और उस वर्कफोर्स का हिस्सा बनना है, जोकि देश के आर्थिक विकास में योगदान देते हैं। आइकन्स ऑफ भारत की सफलता की कहानियां फ्रीडम ऐप पर हैं, साथ ही वहां तक कैसे पहुंचना है उसके बारे में स्टेप-बाय-स्टेप बताया गया है, ताकि उन लोगों को प्रेरित किया जा सके जो इसी तरह का एक सूक्ष्‍म-उद्यम शुरू करना चाहते हैं।

इस कार्यक्रम के तहत, भारत के 60 आइकन्स की कहानियां दिखाई जाएंगी। प्रत्येक एपिसोड में 5 आइकन्‍स और उनकी कहानी पेश की जाएंगी, जिनमें से एक को ” श्रेष्ठ आइकन ऑफ भारत” के रूप में सम्मानित किया जाएगा। और इन ‘श्रेष्ठ आइकॉन्स’ में से, एक को हमारे शो के फिनाले में “सर्वश्रेष्ठ आइकॉन ऑफ भारत” के रूप में सम्मानित किया जाएगा। इस प्रक्रिया में एक प्रतिष्ठित जूरी हमारी सहायता कर रही है।

इस शो की जूरी में शामिल हैं, गणित के भारतीय शिक्षक आनंद कुमार, जो अपने सुपर 30 प्रोग्राम के लिये मशहूर हैं, रश्मि बंसल, एक लेखिका, उद्यमी और मोटिवेशनल स्पीकर, प्रफुल्ल बिल्लौरे, जो एमबीए चायवाला के नाम से भी जाने जाते हैं और श्रीकांत शास्त्री, चेयरमैन, आईआईएम कलकत्‍ता इनोवेशन पार्क एवं प्रेसिडेंट, टीआईई दिल्ली-एनसीआर। आइकन्स ऑफ भारत, अब आवेदन आमंत्रित कर रहा है। लोग इस लिंक iconsofbharat.com  पर जाकर या फ्रीडम ऐप के जरिये अपनी एंट्रीज भेज सकते हैं।

यह शो दर्शकों को श्रेष्ठ आइकन ऑफ भारत- ऑडियंस चॉइस अवार्ड के लिए वोटिंग के लिये आमंत्रित कर रहा है। दर्शक फ्रीडम ऐप को डाउनलोड कर अपने पसंदीदा आइकन को वोट कर सकते हैं। श्रेष्ठ आइकन ऑफ भारत- ऑडियंस चॉइस, रविवार 9:30 बजे से लेकर बुधवार मध्‍य रात्रि तक खुला रहेगा। जिस आइकन को दर्शकों के सबसे ज्यादा वोट मिलेंगे, उन्हें उस एपिसोड के ‘श्रेष्ठ आइकन ऑफ भारत-ऑडियंस चॉइस’ से सम्मानित किया जाएगा। इस सीजन के दौरान जिस आइकन को दर्शकों से सबसे अधिक संख्‍या में वोट मिलेंगे,उसे “सर्वश्रेष्ठ आइकन ऑफ भारत- सीजन1” के खिताब से नवाजा जाएगा।
IndianMoney.com भारत का सबसे बड़ा आजीविका शिक्षा मंच है, जो किसानों और छोटे व्यवसाय मालिकों को उनकी आकांक्षाओं और क्षमता के बीच मौजूद अंतर को कम करने के लिये ज्ञान और अवसर प्रदान करता है। फ्रीडम ऐप अब भारत भर में 7.5 मिलियन से अधिक लोगों को 6 भाषाओं में खेती एवं लघु उद्योग आइडियाज जैसे विषयों पर 750 से भी ज्यादा पाठ्यक्रम प्रदान करता है।

Related posts

स्कोडा को ग्रोथ दिलाएगी “कुशाक”

Khula Sach

ज़िन्दगी को ज़िन्दगी देती ज़िन्दगी को परिभाषित करती शार्ट फ़िल्म ‘लव इन कॉरोंटाइन’

Khula Sach

स्वास्थ्य ही सबसे बड़ी पूंजी है

Khula Sach

Leave a Comment