Khula Sach
ताज़ा खबर देश-विदेश

मोदी जी के कारण लैंगिक समानता की दृष्टि से बेटियों की संख्या बढ़ी- स्मृति ईरानी

स्मृति बोलीं- बेटी बचाने में थपथपाई पीठ,

सतीश चंद्र मिश्रा बोले- सच्चाई तो हर दिन जनता देख रही है

दिल्ली : अमेठी से सांसद औऱ केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने हाल हीं में आई रिपोर्ट, जिसमें लैंगिक आधार पर भारत में बेटियों की संख्या बढ़ी है पर खुशी व्यक्त की. स्मृति ईरानी ने इसका पूरा श्रेय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी को दिया औऱ कहा कि मोदी जी के नेतृत्व में ”बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ” के कारण सकारात्मक बदलाव आया है. केंद्रीय मंत्री ईरानी का कहना है कि मोदी सरकार में बेहतर हुई स्वास्थ्य सुविधाओं के कारण ही मातृ एवं शिशु मृत्यु दर घट रही है. उनका मानना है कि पीएम मोदी (PM Modi) के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार ने महिला उद्यमियों को मजबूत करने के लिए कई योजनाएं लागू भी की हैं।

केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने अपने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म Koo App पर वीडियो पोस्ट करते हुए लिखा, “PM Narendra Modi जी के नेतृत्व में ”बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ” के कारण सकारात्मक बदलाव आया है। आज लैंगिक समानता के दृष्टि से बेटियों की संख्या बढ़ी है। बेहतर स्वास्थ्य सुविधाओं के कारण गर्भवती महिलाओं के लिए अस्पताल जाना भी सुगम हुआ है, जिससे मातृ एवं शिशु मृत्यु दर घट रही है।“

हाल ही में स्मृति ईरानी नें संयुक्त राष्ट्र द्वारा आयोजित ‘संग्राम से संविधान तक’ सम्मेलन के लिए महिला एवं बाल विकास मंत्रालय के साथ भागीदारी करने के लिए संयुक्त राष्ट्र महिला भारत का धन्यवाद भी किया था। इसकी जानकारी उन्होनें सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म Koo पर देते हुए कहा था कि, यह उन महिलाओं की उत्कृष्टता और दृढ़ संकल्प का सम्मान करने का सौभाग्य था जिन्होंने भारत के स्वतंत्रता संग्राम और हमारे संविधान के निर्माण में योगदान दिया है।

वहीं, दूसरी ओर देश और खास तौर पर उत्तर प्रदेश में बढ़ते बलात्कार और महिलाओं से हिंसा के मामले पर विपक्ष लगातार भाजपा सरकार पर निशाना साध रहा है.

ऐसे ही एक मामले का हवाला देते हुए बहुजन समाज पार्टी नेता सतीश चंद्र मिश्रा ने भी अपने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म Koo App पर पोस्ट करते हुए मथुरा का एक मामला उजागर किया, जिसमें मथुरा में परीक्षा देकर लौट रही बेटी से दुष्कर्म का मामला सामने आया था.

सतीश चंद्र मिश्रा ने अपनी Koo App पोस्ट में लिखा, “मथुरा में परीक्षा देकर लौट रही बेटी से दुष्कर्म की घटना अत्यंत ही शर्मनाक व पीड़ादायक है। महिलाओं की सुरक्षा की बात ये लोग बस मंच से बोलना जानते हैं, सच्चाई तो हर दिन जनता देख रही है। लगातार ऐसी घटनाएं बढ़ रही हैं और आपको दूरबीन से भी नहीं दिख रही हैं। शासन ने प्रशासन को अपने चुनाव की तैयारी में लगा रखा है। वाह रे कानून व्यवस्था”

Koo App

मथुरा में परीक्षा देकर लौट रही बेटी से दुष्कर्म की घटना अत्यंत ही शर्मनाक व पीड़ादायक है। महिलाओं की सुरक्षा की बात ये लोग बस मंच से बोलना जानते हैं, सच्चाई तो हर दिन जनता देख रही है।लगातार ऐसी घटनाएं बढ़ रही हैं और आपको दूरबीन से भी नहीं दिख रही हैं। शासन ने प्रशासन को अपने चुनाव की तैयारी में लगा रखा है। वाह रे कानून व्यवस्था

Satish Chandra Misra (@satishmisrabsp) 25 Nov 2021

सरकार और विपक्ष की बातें एक तरफ पर जहां लैंगिकता के आधार पर लड़कियां मज़बूत होने के बारे में बता रहीं हैं, वही ये भी सच है कि आए दिन महिलाओं के साथ हो रहे दुष्कर्म के मामले भी रुकने का नाम नही ले रहे हैं. सवाल यह है कि वाह-वाही लूटने के अलावा कोई भी राजनेता महिलाओं की सुरक्षा के लिए कोई कदम उठाएगा या नही?

Related posts

Mumbai : एक होटल में मृत मिले निर्दलीय सांसद Mohan Delkar, गुजराती में लिखा सुसाइड नोट बरामद

Khula Sach

आयरन लेडी संजुक्ता पराशर

Khula Sach

नगरपालिका की लेट लतीफी ने रोकी विंध्य कॉरिडोर रफ्तार, भड़के नगर मजिस्ट्रेट

Khula Sach

Leave a Comment